हार्दिक की मांगों को अपने घोषणा-पत्र में शामिल करेगी कांग्रेस

अहमदाबाद: गुजरात चुनाव के मद्देनज़र इस वक़्त समीकरण बनाने का दौर है. चाहे वो भाजपा हो या कांग्रेस, दोनों ही पार्टियां इस कोशिश में हैं कि दूसरी पार्टी को पटखनी दी जाए. इसी को देखते हुए पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कांग्रेस के गुजरात प्रभारी अशोक गहलोत से मुलाक़ात की.

इस बारे में ये ख़बर है कि पटेल ने कांग्रेस को समर्थन दिए जाने को लेकर अपनी मांगे अशोक गहलोत के सामने रख दी हैं. पटेल ने मांग की है कि पाटीदारों को आरक्षण के प्रावधान को संवैधानिक सुरक्षा हो ताकि न्यायिक समीक्षा में आरक्षण पर प्रभाव न पड़े.

हार्दिक पटेल की इस मुलाक़ात के बाद गहलोत ने ट्वीट कर के इस मीटिंग को अच्छा बताया. सूत्रों के मुताबिक़ पटेल अपने समुदाय के लोगों के लिए कांग्रेस पार्टी में अधिक प्रतिनिधित्व चाहते हैं. हार्दिक पटेल का मानना है कि कांग्रेस में पटेल समुदाय के लोगों का प्रतिनिधित्व कम है. ऐसा माना जाता रहा है कि पटेल समुदाय भाजपा के पक्ष में रहता है लेकिन इस बार मामला अलग है.

पाटीदार नेता ने अपनी मुलाक़ात में ये भी मांग की है कि कांग्रेस पार्टी टिकट बंटवारे में उनके नेताओं का भी ख़याल रखे. हालाँकि ख़ुद हार्दिक पटेल अभी चुनाव लड़ने योग्य नहीं हैं. हार्दिक की उम्र अभी 24 साल है जबकि चुनाव लड़ने के लिए 25 साल की उम्र होना ज़रूरी है.

कांग्रेस में हमारे सूत्रों से पता चला है कि पार्टी हार्दिक की मांगों पर सकारात्मक रुख़ अपनाए हुए है. पार्टी पाटीदार नेता की आरक्षण सम्बन्धी मांगों को अपने घोषणापत्र में शामिल करने की बात कह रही है.

गहलोत से मिलने होटल में जा रहे हार्दिक का CCTV कैमरे में क़ैद हो जाना और फिर वीडियो मीडिया में लीक हो जाना, पाटीदार नेता को बिलकुल पसंद नहीं आया. हार्दिक ने इसे निजता पर हमला बताया है. वहीँ उनकी तलाशी लिए जाने पर उन्होंने ट्विटर पर टिपण्णी की है. उन्होंने कहा,”मेरी बेग में क्या है वो देखने से पहेले जय शाह के खाते में देखना ज़रूरी हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.