कांग्रेस के सवालों का मोदी सरकार दे पाएगी जवाब?

October 5, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज केंद्र सरकार पर तेल की बढ़ती क़ीमतों को लेकर घेरा. उन्होंने एक ट्वीट के ज़रिये कहा,”आदरणीय श्री मोदीजी, आम जनता पेट्रोल-डीजल के आसमान छूते दामों से बहुत ज्यादा परेशान है. आप कृपया पेट्रोल-डीजल को GST के दायरे में ले आइए।” इसके पहले कल कांग्रेस ने भाजपा और मोदी सरकार से कड़े सवाल किए. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक प्रेस कांफ्रेंस की और कई सवाल पूछे.

उन्होंने कहा,”मोदी जी आप जनता का बेवकूफ अब नहीं बना सकते और महत्वूपर्ण सवालों का जवाब पेट्रोल-डीजल की लूट पर आपको देना पड़ेगा!” लगातार ट्वीट में उन्होंने कई सवाल किए, हम आपको सभी सवाल बता रहे हैं.Q1. आपने सेंट्रल एक्साईज और कस्टम से 52 महीने में देश की जनता की जेब काटकर 13 लाख करोड़ क्यों लूटा?Q2. क्या प्रधानमंत्री मोदी और वित्त मंत्री बताएंगे कि उन्होंने केन्द्रीय एक्साईज ड्यूटी में 52 महीने में 12 बार इजाफा क्यों किया?

Q.3 वित्त मंत्री जी और प्रधानमंत्री जी, अब हम चुनौती देते हैं, देश को ये भी बताएं कि 52 महीने में औसत कच्चे तेल की कीमत, भाजपा सरकार में क्या रही?Q4. मोदी जी ये जवाब देना पड़ेगा कि जहाँ आप भारत के लोगों के ऊपर अनाप-शनाप पेट्रोल और डीजल की कीमतों का बोझ डाल रहे हैं, आप 29 देशों को सस्ता पेट्रोल और डीजल क्यों बेच रहे हैं?

Q5. जवाब दीजिये डबल फ्यूल लूट का. भाजपा राज्यों में वैट अधिक क्यूँ है.Q6. देश की गृहणियाँ जिनको रसोई गैस की मार, जिनके बजट को आए दिन खा रही हैं, उसका हल क्या होगा?सब्सिडी सिलेंडर जब कांग्रेस ने सरकार छोड़ी तो मात्र ₹412 का था, आज वो ₹502 का है। यानि ₹90 का इजाफा! क्या यही अच्छे दिन हैं? प्रश्न बड़ा सीधा है।

Q7. मिट्टी का तेल जो इस देश के करोड़ों गरीबों का आज भी उत्तर प्रदेश,बिहार,छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश,ओडिशा,बंगाल व अन्य प्रांतों में इंधन है, उसका क्या किया?जब कांग्रेस ने सरकार छोड़ी,मिट्टी का तेल.₹14.96, लगभग ₹15 था। आज उसकी कीमत भी पौने 27 रुपए है, ₹26.61 पैसे! Q8. वो इंधन, जिसे हमारे पत्रकार साथी भी जो मोटर साईकिल,स्कूटर व कार में डलवाकर आते हैं, जिससे आम आदमी इधर से उधर का सफर बसों से तय करता है-CNG, उसकी कीमतें आपने बेइंतहाशा क्यों बढ़ा दी?

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *