मायावती के बयान पर कांग्रेस ने दिया बड़ा जवाब

October 3, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: मायावती के गठबंधन के बारे में दिए गए बयान पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया दी है. कांग्रेस के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कभी-कभी जज़्बात में कुछ खट्टी-मीठी बातें कह दी जाती हैं. उन्होंने कहा कि लेकिन उनका भरोसा अगर राहुल गाँधी और सोनिया गाँधी में है तो बाक़ी बातों पे डिस्कस किया जा सकता है.

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने आज एक समाचार एजेंसी से बात करते हुए कहा कि राजस्थान और मध्य प्रदेश में उनकी पार्टी कांग्रेस से कोई गठबंधन नहीं करेगी. उन्होंने घोषणा की कि इन राज्यों में बसपा अपने दम पर चुनाव लड़ेगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गाँधी और सोनिया गाँधी चाहते हैं कि उनकी पार्टी का गठबंधन हो लेकिन कुछ नेता ऐसे हैं जो इस गठबंधन को नहीं चाहते.

उन्होंने वरिष्ट कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का नाम लेते हुए कहा कि दिग्विजय सिंह जैसे नेता ऐसे हैं जो कांग्रेस-बसपा का गठबंधन नहीं चाहते. उन्होंने कहा कि ये नेता ED और सीबीआई से डरते हैं. उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह भाजपा के एजेंट हैं और वो इस तरह के बयान देते हैं कि मायावती जी के ऊपर केंद्र से दबाव है इसलिए वो गठबंधन नहीं चाहतीं. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी का इरादा है और ईमानदारी भी है, वू गठबंधन चाहते हैं. उन्होंने कहा कि लेकिन कुछ कांग्रेस नेता ऐसा नहीं चाहते. उन्होंने दावा किया कि कुछ कांग्रेस के नेता एर्रोगंट हो रहे हैं और इस मुग़ालते में हैं कि वो अकेले ही भाजपा को हरा सकते हैं.

मायावती ने कहा कि इन लोगों को ग्राउंड रियलिटी नहीं पता है, ये नहीं जानते कि जनता अभी कांग्रेस की ग़लतियों को भूली नहीं है और अभी तक जनता ने कांग्रेस को माफ़ नहीं किया है. उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि वो अपनी ग़लतियों में सुधार नहीं करना चाहते. मायावती ने कहा कि इस साल के अंत में होने वाले राजस्थान और मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बसपा का कांग्रेस से कोई गठबंधन नहीं होगा. मायावती ने आरोप लगाया कि कांग्रेस भाजपा की ही तरह बसपा को ख़त्म करना चाहती है. इस घोषणा के बाद महागठबंधन की उम्मीदों को भी झटका लगा है. आपको बता दें कि वरिष्ट कांग्रेस नेता कमलनाथ ने गठबंधन को लेकर भरसक प्रयास किए थे.

Tags: ,

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *