कांग्रेस ने चुनाव से पहले किया वादा-‘सत्ता में आए तो नहीं लगने देंगे RSS शाखा’

November 12, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश में चुनावी माहौल गर्म है. राजनीतिक दल मतदाताओं को लुभाने के लिए जोर-शोर से प्रचार में जुटे हैं. तमाम लोक-लुभावन वादे किये जा रहे हैं. इस बीच कांग्रेस ने अपना घोषणापत्र जारी कर दिया है. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के खिलाफ हमलावर कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में उसके खिलाफ बड़ा कदम उठाने का वादा किया है. कांग्रेस के कल जारी अपने घोषणापत्र में कहा है कि अगर वह सत्ता में आई तो सरकारी परिसरों में आरएसएस की शाखा लगाए जाने पर प्रतिबंध लगाएगी. घोषणापत्र में लिखा गया है, ”शासकीय परिसरों में आरएसएस की शाखायें लगाने पर प्रतिबंध लगायेंगे. शासकीय अधिकारी और कर्मचारियों को शाखाओं में छूट संबंधी आदेश निरस्त करेंगे.”

शनिवार को जारी किए गए कांग्रेस के इस घोषणापत्र के बाद अब राजनीतिक हलचल तेज हो गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व गृहमंत्री पी चिदंबरम ने कहा, “जब उन्होंने साढ़े चार पहले चुनाव लड़े थे, तब उन्होंने विकास, नौकरी और ग्रोथ की बात की थी. वे इन तीनों में पूरी तरह से विफल रहे हैं. वे ना तो विकास, नौकरी और ना ही ग्रोथ को हासिल कर पाए हैं. वे अब अपने पुराने एजेंडे हिंदुत्व की ओर लौट चुके हैं. ऐसे में अब वे हिंदुत्व, विशाल मंदिर, भव्य मूर्तियों की बातें कर रहे हैं.” आने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र ‘वचन पत्र’ के नाम से जारी करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने शनिवार को पत्रकार वार्ता में कहा, ‘‘प्रदेश में सत्ता में आने पर कांग्रेस व्यापमं को बंद कर उसके स्थान पर राज्य कर्मचारी चयन आयोग का गठन करेगी ।’’

बता दें कि कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र में राज्य में एक अध्यात्मिक विभाग बनाने का ऐलान किया है। इसके साथ ही कांग्रेस संस्कृत भाषा का भी प्रचार करेगी। कांग्रेस ने हर ग्राम पंचायत में गौशाला का निर्माण कराने और बीमार गायों के इलाज का वादा किया है। किसानों को लुभाने के लिए कांग्रेस ने उनके बिजली बिल पर 50 प्रतिशत की छूट, पेट्रोल डीजल के दामों में कमी करने का भी वादा किया है। कांग्रेस ने राज्य के बेरोजगार युवाओं को 3 साल तक 10,000 रुपए देने का वादा भी किया है। पार्टी ने राज्य में 2.50 लाख मकानों का निर्माण का वादा भी किया है। कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर अपनी की घोषणाएं पूरी नहीं करने का आरोप भी लगाया। कांग्रेस ने अपने घोषणा पत्र को ‘वचन पत्र’ का नाम दिया है। इस दौरान पत्रकार वार्ता में प्रदेश कांग्रेस चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष ज्योतिरादित्य सिंधिया, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्वियज सिंह और नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह सहित अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *