बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने को तैयार भाकपा, दिया ये बयान

February 16, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: केंद्र में सत्तारूढ़ बीजेपी को हराने के लिए भाकपा विपक्षी दल कांग्रेस के साथ हाथ मिलाने की योजना बना रही है। भाकपा ने तय किया है कि बीजेपी को चुनावी शिकस्त देने के देश भर में एक ही रणनीति अपनाने के बजाय राज्यों के स्थानीय हालात के मुताबिक रणनीति बनाएंगे।भाकपा के आज जारी राजनीतिक प्रस्ताव के मसौदे में कहा गया है कि पार्टी अलग अलग राज्यों में कांग्रेस सहित अन्य धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक दलों के साथ गठजोड़ से परहेज नहीं करेगी।

इस सन्दर्भ में भाकपा महासचिव एस सुधाकर रेड्डी ने कहा है कि पूरे देश में बीजेपी को सत्ता से बाहर करना ही हमारी पार्टी का मकसद है।उन्होंने कहा कि देश में जिस तरह का माहौल है, उसमें फासीवादी ताकतों से निपटने के लिए आरएसएस और मोदी सरकार के खिलाफ धर्मनिरपेक्ष, राजनीतिक संगठनों को एकसाथ लाने की कोशिश करनी चाहिए।

रेड्डी का कहना है कि चुनावी जंग को ही ध्यान में रखकर धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक मंच बनाना ही काफी नहीं है, बल्कि राजनीतिक दल चुनाव के वक़्त सम्बंधित राज्यों में अपने अनुकूल रणनीति बनाने के लिए स्वतंत्र होंगे लेकिन देश में फासीवादी ताकतों के खिलाफ व्यापक जनांदोलन खड़ा करने में अब और देर नहीं की जा सकती है।

इस मामले में जब उनसे माकपा के साथ हाथ मिलाने पर उन्होंने जवाब दिया कि भाकपा के माकपा के साथ कुछ मतभेद जरूर हैं, लेकिन ये दोनों राजनीतिक वामदल बहुत करीब हैं, दोनों पार्टियों में अगर कुछ मतभेद हैं भी तो उन्हें जल्द ही दूर कर लिए जायेगा।

गौरतलब है कि साल 2019 में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, जिसके लिए राजनीतिक दलों ने अभी से तैयारी शुरू कर दी है।  हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ये बयान दिया था कि अगर साल २०१९ के लोकसभा चुनाव में बीजेपी बहुमत से नहीं जीतेगी, और अगर ऐसा होता है की बीजेपी जीत भी जाती हैं तो नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री नहीं बनने वाले हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *