सवर्णों ने दी थी धमकी, निडर दूल्हा फिर भी चढ़ा घोड़ी, तो चाचा के तोड़े पैर, मामला दर्ज

March 4, 2018 by No Comments

देश में दलित समुदाय के खिलाफ होने वाले अपराध थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। राजस्थान में एक दलित दूल्हे को घोड़ी चढ़ कर बारात ले जाना महंगा पड़ गया है। राजस्थान के अंडोर गांव निवासी कुइयाराम मेघवाल की 18 फरवरी को शादी थी। गांव के दबंग राजपूतों ने उसे कहा था की वह घोड़ी पर न चढ़ कर बारात ले जाने की सलाह दी थी।

इन दबंगों ने कुइयाराम को धमकी देते हुए कहा था कि तुम तो छोटी जाति के यानी मेघवाल हो, हम ऊँची जाति के यानी ठाकुर है, अगर तुम घोड़ी पर बैठोगे तो हमारी मर्यादा क्या रह जाएगी? लेकिन कुइयाराम दबंगो की धमकी की परवाह किये बीने शादी के दिन घोड़ी पर चढ़ दुल्हन के घर बारात ले गए।
कुइयाराम की ये बेपरवाही, दबंग राजपूतों को हजम नहीं हुई तो उन्होंने शादी के 15 दिन बाद उनके चाचा पाका राम पर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।  नफरत से भरे इन दबंगों ने पाका राम को इतनी बेरहमी से पीटा, जिसमें उनका एक पैर टूट ही गया है। पाकाराम पर ये हमला उन्होंने उस वक़्त किया जब वह वाटरवर्क्स बोर्ड दफ्तर से घर लौट रहे थे। दरअसल इस मामले में परिवार वालों का कहना है की राजपूतों की बात न मानने पर पाकाराम के साथ खुन्नस निकाली गई है।
इस मामले में कुइयाराम ने कहा है की गांव के दबंगों की धमकी के बारे में हमने पुलिस को सूचना दी थी, जिस पर शादी के दिन पुलिस की सुरक्षा में हम घोड़ी पर चढे। रिश्तेदार गोपाल कुमार ने कहा कि मेघवाल समुदाय में शादी के दौरान अब तक कोई घोड़ी पर नहीं चढ़ा, इस नाते हम घोड़ी पर चढ़कर नई पीढ़ी के लिए एक उदाहरण पेश करने वाले थे।

इस घटना के बाद पुलिस ने एससी-एससी एक्ट की धाराओं के साथ आईपीसी की धारा 307,365, 323, 341 के तहत आरोपियों पर केस दर्ज कर लिया है।  वहीँ पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच में पता चला है कि ग्रामीणों से हुई कहासुनी के चलते पाका राम पर हमला हुआ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *