ताम-झाम के साथ नीतीश जिस बाँध का फ़ीता काटने वाले थे वो टूटा

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज जिस बाँध का उदघाटन करने वाले थे वो कल टूट गया. इस घटना के बाद मुख्यमंत्री को भारी आलोचना का सामना करना पड़ा है. विपक्षी पार्टियों ने इसमें बड़े घोटाले की बात कही है. राष्ट्रीय जनता दल ने इस मामले में संसाधन मंत्री का इस्तीफ़ा माँगा.

बटेश्वरस्थान गंगा पम्प नाहर परियोजना जिसकी लागत 828 करोड़ रूपये(कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ 389 करोड़) तक आँकी जा रही है उसका कुछ हिस्सा टूट जाने से बिहार सरकार की बड़ी किरकिरी हुई है.

नीतीश कुमार के विकास के दावों की पोल खोलने वाले इस मामले में राजद नेता तेजश्वी यादव ने कहा,”जल संसाधन विभाग भ्रष्टाचार का अड्डा है। मुख्यमंत्री जी इस विभाग के भ्रष्टाचार पर ना जाने क्यों चुप रहते है?”

तेजश्वी ने ट्वीट किया,”मुख्यमंत्री नीतीश जी द्वारा उद्घघाटन के 18 घंटे पहले ही 828 करोड़ की राशि से बना बाँध नीतीश जी के भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया।ईमानदार है जी?”

उन्होंने इसके इलावा एक ट्वीट में कहा,”389.31 करोड़ का बांध उद्घाटन के 24 घंटे पहले टूटा। CM ताम-झाम के साथ कल काटने वाले थे फीता। भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा एक और बाँध..”

बिहार की नीतीश कुमार की सरकार पर पिछले दिनों लगातार भ्रष्टाचार के आरोप लगे हैं. सृजन घोटाले में नीतीश और उनके साथी मंत्रियों के भी नाम आये हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.