UP निकाय चुनाव: दारुल उलूम देवबंद ने जारी किया अहम् फ़तवा

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश में इस महीने होने वाले निकाय चुनाव के मद्देनज़र सभी पार्टियों ने अपनी अपनी तैयारियाँ लगभग कर ली हैं और साथ ही प्रचार का दौर भी शुरू हो गया है. प्रचार का दौर शुरू हुआ है तो ये चर्चाएँ भी तेज़ हुई हैं कि कौन वोट ख़रीद रहा है और कौन नहीं. आम तौर पर ये माना जाता है कि लोकल चुनावों में वोटों की ख़रीद फ़रोख्त होती है.होता ये है कि ग़रीब बस्तियों में पैसे बाँट कर वोट हासिल करने की कोशिश की जाती है. इसको लेकर चुनाव आयोग लगातार काम करता तो रहा है लेकिन उसका ख़ास कोई फ़ायदा हो नहीं पाता और चुनाव के एक दिन पहले सारा चुनाव वोट बंटने पर ही केन्द्रित हो जाता है.

अब इसको देखते हुए मुस्लिम संस्थाओं ने काम करना शुरू कर दिया है. वो लोगों में जागरूकता लाने की कोशिश कर रही हैं कि लोग अपना वोट ना बेचें और अपने मत का अपनी मर्ज़ी के मुताबिक़ प्रयोग करें. इसी मामले में एक बड़ा क़दम उठाते हुए दारुल उलूम देवबंद ने एक फ़तवा जारी किया है. मौलाना उब्दुल लतीफ़ कासिमी ने इस फतवे में कहा है कि वोटों की ख़रीद-फ़रोख इस्लाम के उसूलों के ख़िलाफ़ है और इसे शरियत में भी इसे हराम ही माना गया है. उन्होंने कहा कि वोट अपने आप में एक शहादत, गवाही और इज़हार ए राय है और अपनी राय को बेचना शरीयत में जायज़ नहीं है.

उन्होंने बताया कि इस्लाम के अनुसार जो लोग अपना वोट बेचते हैं वो गुनाहगार हैं और ऐसे लोगों के लिए इस्लाम में कोई जगह नहीं होती.

Leave a Reply

Your email address will not be published.