हम मांग करते हैं लेकिन पटना विश्विद्यालय को केन्द्रीय विश्विद्यालय बनाया जाए या नहीं..ये केंद्र सरकार को ही तय करना है: नीतीश कुमार

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पटना विश्विद्यालय को केन्द्रीय विश्विद्यालय बनाए जाने की मांग बार बार करते रहे हैं लेकिन अभी तक केंद्र सरकार ने इस मांग पर हामी नहीं भरी है. इतना ही नहीं पटना विश्विद्यालय के शताब्दी समारोह के मौक़े पर भी नीतीश ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मांग की थी लेकिन मोदी ने उनकी मांग पर कोई सीधा जवाब नहीं दिया.

इस बीच बिहार के मुख्यमंत्री ने कहा कि पटना विश्विद्यालय को केन्द्रीय विश्विद्यालय का दर्जा देना और ना देना केंद्र सरकार के ही हाथ में है. उन्होंने कहा कि ये फ़ैसला केंद्र सरकार को ही करना है.

जदयू अध्यक्ष ने कहा कि ये मांग कोई नयी नहीं. उन्होंने बताया कि वो इस मुद्दे को संसद में भी उठाते रहे हैं. नीतीश ने बताया कि इस बारे में केंद्र सरकार को पत्र भी लिखा जा चुका है.उन्होंने कहा कि बिहार के लोग यही चाहते हैं कि इस विश्विद्यालय को केन्द्रीय विश्विद्यालय का दर्जा मिला. उन्होंने कहा कि सेण्टर ऑफ़ अक्सिलेंस में विश्विद्यालय का चयन होना और बात है.

गौरतलब है कि शताब्दी समारोह में ऐसी उम्मीद की जा रही थी कि प्रधानमंत्री मोदी बतौर तोहफ़ा विश्विद्यालय को केन्द्रीय विश्विद्यालय का दर्जा दिए जाने की घोषणा करेंगे.परन्तु ऐसा नहीं हुआ जिसके बाद विपक्ष के नेताओं ने मोदी और नीतीश दोनों की आलोचना की. जदयू नेताओं को भी उम्मीद थी कि प्रध्हंमंत्री आ रहे हैं तो बड़ी घोषणा होगी. ऐसा नहीं होने से जदयू में भी निराशा है. पार्टी की सबसे बड़ी मुश्किल ये है कि कुछ ही महीनों पहले इसने महागठबंधन तोड़कर भाजपा के साथ मिलकर सरकार बनायी है, इसलिए अभी कोई भी नेता कुछ कहने से बच रहा है लेकिन नाराज़गी ज़ाहिर है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.