ओवैसी-मदनी विवाद में देवबंद के उलेमा का आया बयान,ये दी राय…

November 14, 2018 by No Comments

लखनऊ-जमीयत उलमा-ए-हिंद के महासचिव मौलाना महमूद मदनी ने हाल ही में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर एक ब्यान दिया था इसमें उन्होंने ओवैसी को तेलंगाना और आंध्र तक ही सिआसत करने की नसीहत दी.उन्होंने ये भी कहा कि ओवैसी को वो मुस्लिमो का लीडर नही बनने दे.हलाकि मौलाना ने असदुद्दीन ओवैसी को अच्छा आदमी बताया.
लेकिन उनके इस बयान का मुस्लिम लोगो की तरफ से तीखा विरोध हो रहा है.अब इस बहस में देवबंदी उलमा भी कूद गए हैं. मजलिस इत्तेहाद-ए-मिल्लत के प्रदेशाध्यक्ष मुफ्ती अहमद गौड़ ने इस मामले पर कहा कि कौन लीडर बनेगा कौन नहीं बनेगा यह अवाम तय करती है. हालांकि उन्होंने बयान में मदनी का नाम नहीं लिया लेकिन उनका उनके बयान महमूद मदनी पर भी माना जा रहा है.
मंगलवार को मुफ्ती अहमद गौड़ ने कहा कि यह जो बातें सामने आ रही है कि किसी को नेता नही बनने देंगे.इस तरह की बातें पर्सनल हो सकती है लेकिन कौन लीडर बनेगा और कौन नहीं बनेगा यह सलाहियत पर निर्भर करता है और अवाम तय करती है कि कौन किसका लीडर बनेगा.उन्होंने ये भी कहा कि हमारा किसी की विचारधारा से आप असहमत हो सकते है और विरोध भी कर सकते है लेकिन सियासत में कोई भी मैं वाली बात नहीं चलती, बल्कि इसमें हम वाली बात चलती है और यही बात करनी चाहिए,हम सभी को आज के वक्त में विकास को लेकर बयान देने चाहिए.
उन्होंने कहाकि देश के लोकतंत्र को बचाने और फिरकापरस्त ताकतों को हराने के लिए काम करना चहिये और जनता को इस बात के लिए जहनी तौर पर तैयार करें कि कोई भी फिरकापरस्त ताकत हो उसे हम सत्ता में न आने दें,अगर कोई गलती से सत्ता में आ भी जाए तो उसे उखाड़ फेंकने पर मिलकर काम करना चाहिए.मुफ्ती अहमद ने मुस्लिमो को नसीहत देते हुए कहा कि फिरकापरस्ती की बात बंद होना चहिये,देश को एकजुट रहने की ज़रूरत है.ताकि जनता ऐसे लोगों को नकार दे.उन्हाेंने कहा कि हमें देश और संविधान की रक्षा के लिए काम करना चाहिए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *