धनतेरस के दिन खुलेगा इन चार राशियों के भाग्य का द्वार

October 21, 2018 by No Comments

कुछ ही दिनों में कार्तिक माह की शुरुआत हो जायेगी और शुरू होगी दिवाली की तैयारियाँ भी. दिवाली के पहले ही तेरस को आता है धनतेरस. ऐसा माना जाता है कि इस समय जो भी काम शुरू किया जाता है वो उत्तम फल देता है. ज़्यादातर लोग इसीलिए धनतेरस के दिन सोने-चाँदी के जेवर, बर्तन, नए कपड़े, नए सामान आदि खरीदते हैं ताकि वो सदा के लिए उनके पास सुरक्षित रहे.

धन को कठिन परिस्थिति के लिए बचाकर रखने का ये रिवाज सही है, किन्तु संचय आवश्यकता की पूर्ति के बाद ही करना चाहिए वरना उसका कोई फायदा नहीं. ये तो बातें हुए धनतेरस की जब लोग धन को अलग-अलग रूप में घर लाते हैं. लेकिन हम आपके लिए एक ऐसी खुशखबरी लाएँ हैं जो आपको धन संचय से ज़्यादा आनंद दे सकती है.

ग्रहों की दशा, राशिफल, भाग्य पर विश्वास करने वाले श्रद्धालु और ज्योतिष के ज्ञाता मानते हैं कि इन्सान कितना ही धन बचाकर रखे अगर उसका भाग्य सही नहीं होगा तो वो धन भी उसके काम नहीं आएगा. वहीँ भाग्य सही हो तो धन की पूर्ति कहीं न कहीं से आप ही हो जाती है. ऐसे में धन संचय से ज़्यादा जो बात आपको ख़ुशी दे सकती है वो है अनुकूल भाग्य. ऐसी किस्मत जो आपके जीवन में सुख के द्वार खोल दे. जिस तरह सुख के दिन भी सभी के एक साथ नहीं आते कुछ उसी तरह ये खुशख़बरी है सिर्फ चार राशियों के जातकों के लिए.

धनतेरस के दिन इन चार राशियों की किस्मत का द्वार खुलने वाला है और उनके जीवन में खुशियाँ आने वाली हैं. लेकिन बाक़ी राशियों के जातकों को इस बात से निराश होने की आवश्यकता नहीं है आपके जीवन में भी खुशियों का आगमन जल्दी ही होगा. अगर आपकी राशि इन चार राशियों में शामिल नहीं है तो भी देखिये हो सकता है आपके परिवार के किसी अन्य सदस्य की राशि शामिल हो सकती है. तो आइये आपको बताते हैं उन चार राशियों के बारे में जिनके दिन बदलने वाले हैं इस धन्तेरस के दिन.

मेष- मेष राशि के जातकों के जीवन में धनतेरस का दिन ख़ास ख़ुशियाँ लेकर आने वाला है. कई दिनों से रुका हुआ कार्य वापस शुरू होगा और साथ ही उसमें आशा से अधिक सफलता प्राप्त होगी. घर के बड़े-बुज़ुर्गों का आशीर्वाद काम की सफलता में सहायक होगा. माँ लक्ष्मी आपके जीवन में अपनी कृपा बरसाने वाली हैं. जहाँ व्यापार में आपको लाभ के अवसर मिलेंगे वहीँ आपकी निजी ज़िन्दगी भी खुशियों से भरेगी. अपनों का सहयोग और प्रेम प्राप्त होगा.

आपके जीवन में भी प्यार का आगमन हो सकता है और अगर पहले से ही जीवन में प्यार है तो उसमें बढ़ोतरी होगी. सेहत की परेशानी दूर होने वाली है, काम के साथ ही सेहत पर ध्यान रखना ज़रूरी है. आपके सभी काम बनने के योग नज़र आ रहे हैं, ज़रूरत है तो सच्चे मन से मेहनत करने की. आपकी हर मेहनत का फल मिलेगा.

मिथुन- धनतेरस का दिन मिथुन राशि के लिए भी कुछ सौगातें लेकर आ रहा है. किसी भी अच्छे मौके का फायदा उठाना आपके हाथ है. व्यापार में लाभ के योग बन रहे हैं, अपनी योजनायें अपनाने से पहले हर तरह से जांच लें. यात्रा भी हो सकती है कारोबार बढ़ने के आसार हैं. ये वक़्त हैं जब आप अपनी आर्थिक परेशानियों की ओर ध्यान दे सकते हैं. बचत की ओर ध्यान दें और उचित जगह निवेश करके आगे आने वाली वित्तीय परेशानियों को दूर क्र सकते हैं.

अपने जीवनसाथी के साथ मिलकर रहने की आवश्यकता है. आपसी मतभेदों को बातों से सुलझाएँ. याद रखिये मीठी जुबान आधी मुश्किलों को हल कर देती है. आलस्य घेर सकता है लेकिन मेहनत की ओर जबरन बढ़ना होगा. तभी इस सही मौके को फलदायी बना सकते हैं. पारिवारिक खर्च सुचारू रूप से चलाने के लिए बचत के साथ ही बजट का हाथ थामना श्रेयस्कर है.

मीन- धनतेरस का दिन आपके लिए कई मायनों में शुभ साबित होने वाला है. निजी जीवन में सुख और शांति का वातावरण बना रहेगा. अपनों का सहयोग हर काम में आपको मिलेगा. माँ लक्ष्मी आप पर मेहरबान होगी और आपको धन लाभ हो सकता है. मनोकामना पूरी होने के योग बन रहे हैं आप जो काम करेंगे वो आपको सफलता दिलाएगा. जहाँ इस समय सभी मुश्किलों से आप बाहर निकलने वाले हैं वहीँ आपके मान-सम्मान में बढ़ोतरी होने वाली है.

सामाज के लिए किये कामों से आपको प्रसिद्धि मिल सकती है. सेहत की ओर ध्यान रखकर काम करें, काम की अधिकता आपको थका सकती है हर दिन के लिए लक्ष्य निर्धारण करना आपका काम बना सकता है. नए काम शुरू करने का ये सही समय है. माता-पिता का आशीर्वाद और जीवनसाथी का सहयोग आपकी मेहनत को निखरेगा. अपनों के साथ खुशियाँ बाँटे.

कुम्भ- धनतेरस में कुम्भ राशि के जातकों के लिए मान-सम्मान के सुअवसर आने वाले हैं. रुके हुए काम बनेंगे, व्यापार में लाभ के संकेत हैं. माँ लक्ष्मी मेहरबान होगी और अपनी कृपा दृष्टि बनायेंगी. लेकिन इस समय धन खर्च में सावधानी रखने की आवश्यकता है संचय की ओर ध्यान देने का ये सही वक़्त है. व्यापार में लाभ के अवसर हैं किन्तु निजी जीवन में समय देने की आवश्यकता है. जीवनसाथी से तनाव संभव है और लम्बे समय से चले आ रहा है.

रोज़मर्रा की ज़रूरतें कलह का कारण बन रही हैं. कान भरने वाले व्यक्तियों से बचकर रहें. अपनी सूझबूझ का उपयोग करें. उत्साह में कमी महसूस हो सकती है. आपसी कलह दिमागी अशांति का कारन बन सकती है. जीवनसाथी से मधुरता कायम करें. बातचीत से हल निकलने का संकेत है. बात का ढंग मधुर और प्रेमयुक्त रखें. परेशानी हल होगी.

जीवन में इन्सान कितना ही सफल हो. व्यापार में तरक्की करे लेकिन सबसे ज़रूरी है निजी जीवन में शांति मिलना. आपसी रिश्ते मधुर रखने की ज़िम्मेदारी किसी एक व्यक्ति के कंधे पर न रखकर अपने जीवन में उतारिये और जीवन में मधुरता कायम कीजिए.

अगर आप प्रेमपूर्ण व्यवहार करेंगें तो सामने से भी अंततः प्रेम ही मिलेगा. स्त्री हो या पुरुष आपसी रिश्ते में प्रेम और सम्मान बनाए रखने पर हर रिश्ता मज़बूत होता है. निजी जीवन जितना सुखमय होगा व्यवसायिक जीवन भी उतना ही सुखकर होगा. तरक्की, उन्नति और भाग्य के नए रास्ते भी अपने आप खुलेंगे.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *