क़द्दावर भाजपा नेता ने माना-‘2019 में बहुत मुश्किल हैं हमारे हालात’

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी जब 2014 का चुनाव जीती थी तो पार्टी के वरिष्ट नेता ये दावा कर रहे थे कि अब 30 साल तक उनकी ही पार्टी चुनाव जीतेगी लेकिन अब पार्टी के अन्दर से ही ऐसी बातें आ रही हैं कि 30 साल तो दूर की बात है शायद 2019 का चुनाव दुबारा जीतना भाजपा के लिए मुश्किल हो जाएगा.

वरिष्ट भाजपा नेता और पटना साहिब से सांसद शत्रुघन सिन्हा ने एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में कहा है कि 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिए हालात मुश्किल हैं. हालाँकि सिन्हा ने कहा कि मुश्किल है मगर नामुमकिन नहीं है.

उन्होंने जय शाह मामले पर निष्पक्ष जांच की मांग की.उन्होंने कहा कि जय शाह पर गंभीर आरोप लगे हैं इसलिए इस मामले को दबाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए.

भाजपा नेता ने यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी का समर्थन करते हुए कहा कि ये नेता पार्टी को दर्पण दिखाने का काम कर रहे हैं. उन्होंने पटना विश्विद्यालय में ख़ुद को ना बुलाये जाने पर नाराज़गी जतायी और कहा कि वो शायद अच्छे छात्र नहीं रहे लेकिन इतने बुरे भी नहीं रहे कि उन्हें ना बुलाया जाए. उन्होंने साफ़ किया कि अगर सच बोलना बग़ावत है तो वो बाग़ी हैं. उन्होंने कहा कि मैं जो कहता हूँ वो बात पार्टी के हित में कहता हूँ देश के हित में कहता हूँ.

उन्होंने कहा कि हमें किन कारणों से मंत्री नहीं बनाया गया ये लोगों को अच्छी तरह पता है.. क्या अडवानी जी का साथ देना जो युगपुरुष हैं, उनका साथ देना या यशवंत सिन्हा का साथ देना ग़लत है.. और इसको लेकर मुझे मंत्री नहीं बनाया गया तो मुझे कोई अफ़सोस नहीं है. उन्होंने पार्टी में हो रही उनकी उपेक्षा पर भी चिंता जतायी. उन्होंने भाजपा में आंतरिक लोकतंत्र ना होने की ओर भी इशारा किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.