दिग्गज मुस्लिम नेता ने दिया कांग्रेस से इस्तीफ़ा,भाजपा में होगा शामिल,कांग्रेस ने मनाने के लिए

April 8, 2019 by No Comments

लोकसभा चुनाव ऐसे दौर में पहुच गया है जहाँ पर पहले चरण के मतदान के लिए अब बस कुछ दिन बचे है.सभी राजनैतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत चुनाव प्रचार में झोंक दी है.मतदान से पहले कई नेता भी पाला बदल रहे है.कांग्रेस के वरिष्ठ नेता की भाजपा में शामिल होने की अटकलों से कांग्रेस परेशान है.कांग्रेस ने अपने बागी मुस्लिम नेता को मनाने की कोशिशे तेज़ कर दी है.
डॉक्टर अम्मार रिज़वी कांग्रेस के वरिष्ठम मुस्लिम नेताओ में शुमार किये जाते है बुरे से बुरे दौर में भी वो कांग्रेस के साथ रहे लेकिन अब उनका कांग्रेस से मन भर चुका है.डॉक्टर अम्मार रिजवी द्वारा कांग्रेस के सभी पदों से इस्तीफा देने और फिर गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात पर कांग्रेस नेता व धौरहरा से प्रत्याशी जितिन प्रसाद ने रिजवी को पत्र लिखकर उनसे इस्तीफे पर पुनर्विचार करने की अपील की है.

जितिन ने अपने पत्र में कहा कि आपने लंबे समय तक कांग्रेस में रहकर पार्टी को मजबूती प्रदान की है.इसलिए चुनाव के समय इस्तीफे पर पुनर्विचार कर पार्टी के हित में काम करें.आपको बता दें कि रिजवी ने कांग्रेस से इस्तीफा देने के बाद जब से राजनाथ सिंह से मुलाकात की है सियासी सरगर्मियां बढ़ गई हैं.रिजवी ने राजनाथ सिंह के लिए समर्थन पत्र भी जारी किया.जिसमें उन्होंने सिंह की तारीफ कर मुसलमानों से उन्हें वोट करने की अपील की है.
डॉ. रिजवी लोकसभा चुनाव में राजनाथ सिंह के प्रस्तावक हो सकते है.ऐसा कर सिंह राजधानी के ही नहीं बल्कि प्रदेश के मुसलमानों खासतौर से शिया समाज के लोगों को भाजपा का यह संदेश दे सकते हैं कि उनकी पार्टी राष्ट्र की मुख्यधारा के साथ चलने वाले मुसलमानों की विरोधी नहीं है.लखनऊ में शिया मुसलमान काफी अच्छी संख्या में हैं.

इनमें से ज्यादातर का रुख अटल बिहारी वाजपेयी के समय से ही भाजपा को लेकर नरम रहा है.ऐसा लगता है कि राजनाथ सिंह इन्हें साधकर सियासी समीकरणों को भी दुरुस्त करना चाह रहे हैं.हलाकि इस बार शिया वोटर में भी भाजपा के प्रति गुस्सा दिखाई दे रहा है लेकिन राजनाथ अपनी छवि के बलबूते विपक्ष के खेमे में शिया वोटर ना जाने पाए इसलिए प्रयासरत है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *