दो बहनों वाक़िया सुन के दर्द से रो पड़ेंगे आप, रूह कांप जाएगी सुन के यह किस्सा

November 22, 2018 by No Comments

दोस्तों में आज हम हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वाले वसल्लम की यौमे विलादत पर उनकी कुछ बातों को आप के सामने बताएंगे कि हमारे नबी ने कैसी तालीम और तरबियत हमको दी दोस्तों हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने फरमाया कि अपने बीवियों के लिए जेबो जीनत एखतेयर करो दोस्तों इसका मतलब यह है कि अपनी बीवियों के लिए खुद को सजाओ सवारों मौलाना तारिक जमील साहब फरमाते हैं कि बनी इसराइल में जो मर्दों ने औरतों के लिए उसे उसी ने छोड़ दी तो वह गैर मर्दों के साथ करीब होने लगे इसलिए वहां रहना फैल गया था.
साथ ही हमारे नबी ने औरतों को तरगीब दी है कि अपने मर्दो के लिए खुद को सजाओ जैसे उम्मे सलमा मेरे लिए सजती है हमारे नबी ने फरमाया की जन्नत में हूर अपने ख़ाविंड के लिए ऐसे सजेगी जैसे कि उम्मे सलमा मेरे लिए सजती हैं दोस्तों मौलाना तारिक जमील साहब फरमाते हैं कि अभी औरतों को तैयार हो ना हो शादी के लिए तो खूब तैयार होंगी लेकिन अपने मर्दो के लिए तैयार होने की बात पर उन्हें मौत आ जाती है.

SOURCE-YOUTUBE VIDEO SCREENSHOT


दोस्तों जब हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम की सबसे प्यारी बेटी हजरत फातिमा का निकाह हुआ तो उनकी रुखसती कुछ वक़्त के बाद हुई जब हजरत अली रजि अल्लाह ताला अनु रुखसती के लिए आए तो हजरत मोहम्मद सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने कहा कि मेरी बेटी को दुल्हन बनाओ दोस्तों यह कोई अलग बात नहीं है बल्कि यह दिन है कि मर्द अपने बीवी के लिए सजे और बीवी अपने शौहर के लिए.

SOURCE-YOUTUBE VIDEO SCREENSHOT


दोस्तों आपको बता दें कि हमारे नबी हजरत मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो वाले वसल्लम ने कभी मैला कपड़ा नहीं पहना बल्कि पुराना कपड़ा पहना है फटा कपड़ा पहना है पवन लगा कपड़ा पहना है लेकिन कभी मैला कपड़ा नहीं पहना हमारे नबी के पसीने से मुश्क से भी अच्छी खुशबू आती थी दोस्तों बहुत सी औरतें अपने मां बाप के हक अपने बहन के हक की वजह से अपने शौहर को ध्यान नहीं देती हैं और उन्हें मां बाप और भाई बहन के वजह से जलील कर देती हैं ऐसा बिलकुल नहीं होना चाहिए क्योंकि सबसे पहला हक शहर का होता है।। आगे देखें वीडियो में।।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *