जब डॉक्टरों ने अमिताभ को बता दिया था मृ’त, पत्नी जया ने नही मानी थी हार ,ऐसे मिली थी दुबारा जिंदगी

हिंदी सिनेमा में अमिताभ बच्चन की कला को कभी कोई भूल नहीं सकता है.वह ऐसे कलाकार हैं जिन्हें हर उम्र के लोग पसंद करते हैं.अमिताभ बच्चन जिस तरह जवानी में फ़िल्में करते थे और लोग उसे पसंद करते थे,आज भी जब उनकी कोई फिल्म आती है तो उतना ही पसंद किया जाता है.अमिताभ बच्चन ने जिस तरह का भी किरदार किया है.

उस में जा’न फूंक दी है.अमिताभ बच्चन ने जितनी भी फ़िल्में की हैं, सभी यादगार हैं, और सभी को लोग हमेशा देखते रहते हैं,लेकिन एक फिल्म ऐसी भी है जिसे अमिताभ बच्चन खुद कभी नहीं भूल सकते हैं.

क्योंकि इस फिल्म की शूटिंग करते हुए उन की जान जाने से बची थी.अमिताभ बच्चन की और फिल्मों की तरह एक फिल्म है कुली, इस फिल्म में अमिताभ बच्चन ने एक कुली का किरदार निभाया था.इसी वजह से इस फ़िल्म का नाम ही कुली रख दिया गया था.

इस फिल्म में एक फाइट का सीन था, जिस में अमिताभ बच्चन को पुनीत इस्सर मुक्का मार’ते हैं, यह सीन करते हुए अमिताभ को चो’ट आ गई थी. और उन्हें हॉस्पि’टल में एडमिट होना पड़ा था.

दरअसल जब पुनीत इस्सर अमिताभ बच्चन को मु’क्का मारते हैं, तो सब कुछ ठीक ठाक होता है, और लोग सीन को ओके कर देते हैं, उसके कुछ देर के बाद अमिताभ बच्चन के पेट में द’र्द होने लगता है.

जब द’र्द बढ़ने लगता है, तो अमिताभ अपने पेट की तरफ देखते हैं, तो वहां पर दिखाई देता है कि उनके पेट से खू’न बह रहा है, दरअसल जब उन्हें मुक्का प’ड़ता है, तो वह एक टेबल पर गि’र जाते हैं, और टेबल का कोना उनके पेट में धं’स जाता है.

जब द’र्द बढ़ने लगता है तो उनके पेट का ओपरे’शन करने का फैसला किया जाता है, जब डॉ ओप’रेशन करने के लिए पेट चीर’ते हैं, तो क्या देखते हैं कि उनके पेट में गहरा ज़’ख्म है.उनके पेट की झिल्ली फट चुकी थी जो पेट के अं’गों को जोड़े रखती है.

साथ अमिताभ बच्चन को बु’खार भी आ गया, जब उनकी हाल’त ज्यादा ख़’राब होने लगी तो उन्हें मुंबई लाया गया.वहां पर उनका इ’लाज हुआ.इस दौरान पूरे देश के लोग अमिताभ बच्चन के ठीक होने की दुआ कर रहे थे.

सब से ज्यादा परेशा’न अमिताभ बच्चन की पत्नी जया बच्चन थीं. वह अपने पति को अपने सामने ही मौ’त से लड़ते हुए देख रही थीं. वहीँ अमिताभ बच्चन की हालत ऐसी हो गई थी कि एक समय डॉ ने भी कह दिया था अब यह म’र चुके हैं.

दरअसल अमिताभ बच्चन के शरीर की सारी हरकत रुक चुकी थी. और डॉ ने उन्हें मु’र्दा घोषित कर दिया था. यह देख कर जया तो बे’होश हो गई थीं. वहीँ डॉ ने जब उनके पैर की मालिश करनी शुरू की तो उस में हरकत हुई, और फिर लोग के जान में जा’न आई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.