दुबई में काम कर रहे श्रमिकों को उनके अधिकारों से रूबरू करवाएगी ये गाइडबुक

February 17, 2018 by No Comments

दुबई में काम कर रहे विदेशी श्रमिकों के लिए अब एक गाइडबुक लांच की है। दुबई के जनरल डायरेक्टरेट ऑफ़ रेजीडेंसी एंड डायरेक्टर ऑफ़ फॉरेन अफेयर्स (जीडीआरएफए), और चेयरमैन ऑफ़ पीसीएलए ओबैद मुहैर बिन सुरौर ने कहा है कि देश में काम कर रहे हैं, उनके जीवन अनुभव को बढ़ाने और परेशानियों में पड़ने से बचने की नई योजना के भाग के रूप में हर विदेशी श्रमिक के पास एक ये गाइडबुक होगी।
उनका कहना है कि हम दुबई में एक लाख श्रमिकों को शिक्षित करने का लक्ष्य रखते हैं हम चाहते हैं कि उन्हें अपने अधिकारों, जिम्मेदारियों और देश के सामाजिक पहलुओं के बारे में अधिक जानकारी हो। हमारा उद्देश्य देश में रह रहे अपने प्रवासियों को खुश करना है। दुबई में काम कर रहे नए श्रमिकों को रेजिडेंट वीजा के लिए आवेदन करते समय काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसके चलते उनके लिए ट्रेनिंग सेशन का अरेंजमेंट किया जायेगा और फिर मुफ्त में गाइडबुक दी जायेगी।

श्रमिकों ये भी बताया जायेगा किस तरह से वह अपना वीज़ा रिन्यू करवाना चाहते हैं।  उन्होंने बताया की पिछले साल, हमने एक केंद्र में 20,000 से ज्यादा श्रमिकों को प्रशिक्षित किया अब, हमारे पास जैबेल अली फ्री जोन का दूसरा केंद्र है, जहां 250 कर्मचारी हर रोज प्रशिक्षण सत्र में भाग लेते हैं। ये जागरूकता कार्यक्रम संयुक्त अरब अमीरात के कानूनों और विनियमों के अनुसार श्रमिकों के ज्ञान को उनके अधिकारों और जिम्मेदारियों के बारे में जानकारी देने पर ध्यान केंद्रित करता है।

गाइडबुक तीन भाषाओं में है- अरबी, अंग्रेजी और उर्दू, और अभी श्रमिकों के लिए ये ट्रेनिंग सेशन दो केंद्रों पर हो रहे हैं, अल घूसैस और जेबेल अली फ्री जोन में। “हम श्रमिकों को एक इंटरैक्टिव तरीके से ट्रेनिंग देना चाहते हैं इसलिए हम ट्रेनिंग सेशन, गाइडबुक और कियोस्क का उपयोग कर रहे हैं।
Middle East Centre for Training and Development के डायरेक्टर और PCLA से जुड़े कंसलटेंट डॉ अहमद अल हाशमी ने कहा कि
“गाइडबुक बताता है कि संयुक्त अरब अमीरात में क्या करना है और क्या नहीं करना है। कानून के दायरे से बाहर जाकर काम करने पर क्या सजा मिल सकती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *