इस्लामिक दुनिया के इस शहर में हैं नायाब कारें और..

November 6, 2018 by No Comments

नई दिल्ली: आधुनिक युग में कारें आजकल अमीरी से ज्यादा जरूरत बन गयी हैं। इससे ऑटोमोबाइल क्षेत्र को बड़ा टर्नओवर मिलता है। दरअसल एक ख़बर आयी है कि दुबई में सड़क और परिवहन प्राधिकरण के अनुसार, दुनिया के सबसे ज्यादा वाहन घनत्वों में से एक दुबई शहर है, जिसमें प्रत्येक दो निवासियों के लिए एक कार है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, दुबई में सार्वजनिक परिवहन आसानी से सुलभ हो गया है और आंकड़े उनकी सवारी में वृद्धि दिखाते हैं, शहर में कारों की संख्या बढ़ रही है।दुबई में पिछले आठ सालों में वाहनों की संख्या दोगुनी हो गई है। यहां न्यूयॉर्क या लंदन की तुलना में सबसे ज्यादा कारें हैं। रोड्स एंड ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के आंकड़ों के मुताबिक दुबई में अब 14 लाख वाहन हैं। जबकि आबादी 24 लाख है यानी हर 1000 लोगों पर 540 कारें हैं जबकि न्यूयॉर्क में प्रति हजार लोगों पर 305 और लंदन में 213 वाहन हैं।

अगर यही रुख जारी रहा तो 2020 तक दुबई में वाहनों की संख्या 22 लाख तक पहुंच सकती है। दुबई ने हाल ही वर्षों में सार्वजनिक परिवहन ढांचे पर भारी निवेश किया है। 2009 में मेट्रो रेल नेटवर्क शुरू किया। पिछले साल ट्राम नेटवर्क का पहला चरण शुरू हुआ। इसके बावजूद कारें किंग बनी हुई हैं।आधिकारिक आंकड़ों से पता चलता है कि प्रति 1000 दुबई निवासियों में 540 कारें हैं, न्यूयॉर्क जैसे शहरों में 305 वाहन, लंदन के साथ 213, 101 के साथ सिंगापुर और हांगकांग प्रति 1000 निवासियों के साथ 63 वाहनों के साथ एक बड़ा अंतर है।

अगर हम खबरों की माने तो 2006 में दुबई में कारों की संख्या लगभग 740,000 थी, जबकि यह 2014 के अंत में 1.4 मिलियन हो गई। कारों की बढ़ती संख्या ने दुबई की बढ़ती यातायात की समस्याओं को प्रभावित किया है क्योंकि यात्रियों की बड़ी संख्या हर दिन शहर में आती है। दुबई में परिवहन सड़क और परिवहन प्राधिकरण द्वारा नियंत्रित है। सार्वजनिक परिवहन नेटवर्क में भारी भीड़ और विश्वसनीयता की मुश्किलें हैं जिनको एक बड़े निवेश कार्यक्रम द्वारा सुधारने के प्रयास किये जा रहे है जिसमे AED70 अरब का सुधार योजना 2020 तक पूरा होने की उम्मीद है जब शहर की जनसँख्या 35 लाख से अधिक होने का अनुमान है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *