फ़िलिस्तीन के पक्ष में मिस्र की सरकार का बड़ा फ़ैसला

February 8, 2018 by No Comments

फ़िलिस्तीन: दुनिया की खुली जेल कही जाने वाली गाज़ा पट्टी के बाशिंदों के लिए राहत की ख़बर है। मिस्र की सरकार ने गाज़ा से लगे अपने बॉर्डर को टेम्पररी तौर पर खोलने की घोषणा कर दी है। ये एक बड़ा फ़ैसला माना जा रहा है। मिस्र की सरकार ने 2007 के बाद से ही ये बॉर्डर सील किया हुआ है। इसकी वजह हमास का फ़िलिस्तीनी आम चुनाव का जीत लेना है। हमास को मिस्र, अमरीका और इजराइल जैसे देश हिंसक संगठन मानते हैं। हमास फ़िलिस्तीनी आज़ादी के लिए संघर्ष करता रहा है।

गौरतलब है कि फ़िलिस्तीन के वेस्ट बैंक इलाक़े में राष्ट्रपति मुहम्मद अब्बास की सरकार है जिसे अंतराष्ट्रीय संघठनों ने मान्यता दे रखी है और राजधानी रामल्लाह है। वहीं गाज़ा में हमास की सरकार है। गाज़ा दुनिया का सबसे अधिक डेंसिटी वाला इलाक़ा माना जाता हैं और यहां के लोगों को बहुत परेशानियां झेलनी पड़ती हैं क्योंकि बॉर्डर पूरी तरह से सील है और ऊपर से इजराइल लगातार हिंसक कार्यवाही करता रहता है।

एक और जानकारी इसमें जोड़ दें कि इजराइल ने फ़िलिस्तीन के अधिकतर हिस्से पर क़ब्ज़ा किया हुआ है और वहां इजराइल अपने सेटलमेंट बना रहा है। इजराइल की सेटलमेंट पालिसी का लगातार विरोध होता रहा है और ये मुद्दा संयुक्त राष्ट्र में भी कई बार उठाया गया है। इसके बाद भी इजराइल बाज़ नहीं आता और सेटलमेंट बनाना जारी रखता है। इजराइल की दमनकारी नीतियों की वजह से ही फ़िलिस्तीनी के लोगों को परेशानी झेलनी पड़ रही है. संयुक्त राष्ट्र में बार-बार ये मांग उठ चुकी है कि इजराइल को 1967 युद्ध के पहले का बॉर्डर मानना ही चाहिए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *