चुनाव आयोग का UP निकाय चुनाव पर बड़ा बयान- M2 के दौर में M1 EVM का हुआ इस्तेमाल…

December 3, 2017 by No Comments

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश निकाय चुनाव में EVM गड़बड़ी की शिकायतों पर बयान दिया है. चीफ इलेक्शन कमिश्नर एके ज्योति ने कहा कि लोकल बॉडी इलेक्शन स्टेट इलेक्शन कमीशन के अंतर्गत होता है और चीफ इलेक्शन कमीशन का इसमें कोई रोल नहीं होता. उन्होंने कहा कि उन्होंने हमसे M1 EVM मांगी थीं और हमने उन्हें वहीँ दिन. उन्होंने कहा कि फ़िलहाल CEC M2 EVM का इस्तेमाल करता है.

ज्योति ने बताया कि 2006 के बाद से M1 EVM का इस्तेमाल नहीं हुआ था.गुजरात विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र प्रेस को संबोधित कर रहे ज्योति ने कहा कि अगर किसी प्रत्याशी को ये लगता है कि EVM में गड़बड़ी है तो वो रिटर्निंग ऑफिसर से इसकी शिकायत कर सकता है और रिटर्निंग ऑफिसर उन्हें VVPAT स्लिप रेफ़र करेंगे.

उन्होंने बताया कि गुजरात में 50, 264 बूथ होने जो VVPAT-EVM से तैयार होंगे.इसी माह गुजरात में विधानसभा चुनाव होने हैं. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में हुए निकाय चुनाव में EVM धांधली की ख़बरें आयी थीं. इसमें कई जगह ये शिकायत देखने को मिली थी कि वोट किसी और को डाला गया और पहुँच कहीं और गया. इस मामले में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी ने गंभीर आरोप लगाए हैं. बसपा ने कहा है कि EVM से सिर्फ़ भाजपा को फ़ायदा हो रहा है और अगर चुनाव बैलेट पेपर से हो जाएगा तो भाजपा हार जायेगी. वहीँ समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट करके कहा कि जहां बैलेट पेपर से चुनाव हुआ वहाँ भाजपा सिर्फ़ 15% सीटें ही जीत सकी है जबकि EVM वाले स्थानों पर 45% जीती है.कुल मिलकर अब ये मामला एक बार फिर तूल पकड़ता दिख रहा है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *