सपा परिवार में एक और फूट, अपर्णा ने..

October 14, 2018 by No Comments

लखनऊ: समाजवादी पार्टी में चली आ रही आपसी लड़ाई अब दो पार्टियों की लड़ाई बन गयी है क्यूंकि अब एक गुट ने नई पार्टी बनाने की घोषणा कर दी है. हालाँकि अभी तक यही कहा जा रहा है कि ये सपा के अन्दर एक और धड़ा हो होगा लेकिन ऐसा लगता नहीं है. अब सपा परिवार में एक बड़ी फूट की ख़बर सामने आयी है. मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव ने सपा से अलग जाकर चाचा शिवपाल सिंह यादव के मोर्चे का समर्थन कर दिया है.

समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के मंच पर अपर्णा यादव पहुँच गयीं. उन्होंने इस मौक़े पर कहा,”यहां 24 राजनीतिक दलों की बैठक बुलाई थी. सब अगर एक साथ आएं तो वो एक शक्ति बन जाएगी. शक्ति को इक्ट्ठा करें और इस दल में बल में बदल दिया. मैं चाहती हूं कि सेक्युलर मजबूत हो. मजबूती के साथ अपने लोकतंत्र को मजबूत करें.”

आपको बता दें कि 2017 में हुए विधानसभा चुनाव में अपर्णा ने सपा की ओर से अपनी उम्मीदवारी पेश की थी. अपर्णा इस चुनाव को जीत नहीं सकी थीं लेकिन अपना दावा उन्होंने पेश किया था. लम्बी नाराज़गी के बाद शिवपाल यादव ने सपा से अलग समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाया है. इस मोर्चे में उनकी कोशिश ऐसे नेताओं को जोड़ने की है जो सपा से नाराज़ हैं. आलोचकों का ये भी दावा है कि समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन भाजपा के इशारे पर हुआ है.

आलोचक कह रहे हैं कि आने वाले लोकसभा छुनाव में सपा और बसपा गठबंधन को कमज़ोर करने के लिए भाजपा ने शिवपाल यादव को आगे बढ़ाया है. हालांकि शिवपाल यादव कह चुके हैं कि वे बीजेपी के खिलाफ लड़ाई लड़ते रहेंगे. अब जबकि समाजवादी सेक्युलर मोर्चा में अपर्णा यादव भी शामिल हो गयी हैं तो इसको एक बड़ी मज़बूती ज़रूर मिली है.

ऐसे में भाजपा ने सपा पर कटाक्ष करना भी शुरू कर दिया है. भाजपा के प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा कि समाजवादी प्रमुख अखिलेश यादव को इस बारे में जवाब देने की ज़रूरत है कि अपर्णा यादव आख़िर किसके साथ जा रही हैं. शुक्ला से जब इस बारे में पूछा गया कि क्या समाजवादी सेक्युलर मोर्चा भाजपा की बी टीम है तो उन्होंने कहा कि इस तरह के आरोपों का आजकल फैशन हो गया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *