गाँधी और नेहरु का अपमान करने वालों का मुंह काला करना चाहिए: अज़ीज़ क़ुरैशी

March 13, 2018 by No Comments

तीन दिनों के लिए सिंगापुर के दौरे पर गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जब वहां नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर के ली क्वान स्कूल ऑफ पब्लिक पॉलिसी में पहुंचे तो कार्यक्रम के दौरान सवाल जवाब का दौर भी चला। इस दौरान एशिया के रिबार्न के लेखक और प्रोफेसर पी के बासु ने राहुल गाँधी से तीखे-तीखे सवालों का सिलसिला चला।
बासु ने इस दौरान महात्मा गांधी और नेहरू परिवार की गरिमा पर कीचड़ उछाला और उन्हें बदनाम करने की कोशिश की। प्रोफेसर पी के बासु ने कहा कि जब तक देश में नेहरू-गांधी परिवार का राज रहा, तब तक देश का विकास नहीं हुआ। जबकि अनीश मिश्रा नाम के एक व्यक्ति ने कहा कि आज भारत जो कुछ है, वह जवाहरलाल नेहरू की वजह से है। इन दोनों बातों पर राहुल गांधी ने कहा कि ये जो आप देख रहे हैं, वही ध्रुवीकरण है। एक को लगता है कि कांग्रेस ने कुछ नहीं किया, दूसरे को लगता है कि कांग्रेस ने ही सब कुछ किया है।

मैं बताता हूं कि सच क्या है। भारत की सफलता के पीछे भारत के लोगों का हाथ है। इसके बाद राहुल गांधी ने देश को आगे बढ़ाने में कांग्रेस के योगदान का जिक्र किया और परस्पर विरोधी विचारों को सम्मान करने की अपनी आदत का जिक्र किया। इस मामले में पूर्व गवर्नर अज़ीज़ कुरैशी ने प्रतिक्रिया देते हुए प्रोफेसर की आलोचना की है।

उन्होंने फेसबुक पर पोस्ट किया है कि कुछ दिनों पहले एक तथाकथित प्रोफेसर ने न केवल सिंगापुर की यात्रा के संबंध में राहुल गांधी की छवि को धूमिल करने की कोशिश की, बल्कि महात्मा गांधी, “भारत छोड़ो आंदोलन” और जवाहर लाल नेहरू को भी अपमानित किया, उन्होंने कहा की माउंटबेटन ने उन्हें प्रधान मंत्री बनाया।

अज़ीज़ कुरैशी ने गाँधी और नेहरू के लिए अपमानजनक टिप्पणी करने के लिए प्रोफेसर का कड़ा विरोध करते हुए कहा की इस तरह के बकवास के लिए उसे की पहना कर उसका चेहरे पर कालिख पोतनी चाहिए। ऐसा लगता है कि उन्होंने किसी रेड लाइट क्षेत्र में पीएचडी के लिए शोध किया था। किसी को भी ऐसे लोगों के कथनों को कोई नोटिस में नहीं लेना चाहिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *