CBI के समन का घोटालेबाज़ मोदी ने खुलेआम उड़ाया मज़ाक, कहा विदेश में बिजी हूँ, नहीं आ सकता

March 1, 2018 by No Comments

‘एक तो चोरी, ऊपर से सीनाज़ोरी’ ये कहावत का इस्तेमाल हीरा व्यापारी और घोटालेबाज़ नीरव मोदी बहुत ही बेशर्मी से कर रहे हैं। शायद नीरव मोदी की ये हिम्मत भारत के कमज़ोर प्रशासन के कारण और भी बढ़ गई है। पंजाब नेशनल बैंक में 12,672 करोड़ रुपए के घोटाले के मुख्य आरोपी नीरव मोदी ने सीबीआई की जांच में शामिल होने से साफ इंकार कर दिया है।

जिसके पीछे उसने तर्क दिया कि वह विदेश में बिजनेस के काम में बिजी चल रहा है है। इसे गंभीरता से लेते हुए सीबीआई ने फिर से पत्र जारी कर अगले हफ्ते तक पूछताछ के लिए हाजिर होने को कहा है। सीबीआई ने मोदी से कहा है कि किसी भी आरोपी को जांच में शामिल होने के लिए बुलाने पर पेश होना अनिवार्य है।
इसलिए वह जिस भी देश में है, वहां की इंडियन एम्बसी से संपर्क करें, वह उसकी भारत यात्रा के लिए व्यवस्था करेंगे। गौरतलब है कि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के पासपोर्ट को रद्द कर दिया गया है। इसके अलावा नीरव मोदी और मेहुल चोकसी के खिलाफ अलग-अलग लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया। इसका मकसद दोनों की आवाजाही पर रोक लगाना बताया जा रहा है।
इस बीच, सीबीआई ने इस मामले में पीएनबी के इंटरनल चीफ ऑडिटर एमके शर्मा को गिरफ्तार किया है। एमके शर्मा पर आरोप है कि उन्होंने सही तरीके से ब्रैडी हाउस शाखा की ऑडिट नहीं की, जहां से नीरव मोदी को लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग जारी हुई। जिसके चलते उसने कई बैंकों की विदेशी शाखाओं से करोड़ों का लोन लिया। उनपर बैंक की ब्रैडी हाउस शाखा की प्रणालियों और कामकाज के तौर तरीकों की आडिट की जिम्मेदारी थी। इसी शाखा से नीरव मोदी अन्य बैंकों की विदेशी शाखाओं से कर्ज लेने में कामयाब हो पाया। बैंक के किसी स्टाफ की यह पहली गिरफ्तारी बताई जाती है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *