गौरी लंकेश मर्डर: अभिव्यक्ति की आज़ादी पर ख़तरे को लेकर जमा हुए लोग

लखनऊ: वरिष्ट पत्रकार गौरी लंकेश की बेंगलुरु में अज्ञात लोगों द्वारा ह्त्या किये जाने के बाद कई जगह लोगों ने अपनी नाराज़गी व्यक्त की.नरेन्द्र अच्युत दाभोलकर, गोविंद पंसारे, डॉक्टर एमएम कलबुर्गी के बाद गौरी लंकेश की हत्या के बाद अब ये सवाल उठने लगा है कि क्या अभिव्यक्ति की आज़ादी अब रह भी गयी है या नहीं? लंकेश की हत्या के तरीक़े और उसके बाद सोशल मीडिया पर उनके ख़िलाफ़ भद्दी गालियों के इस्तेमाल के बाद सामाजिक चिंतकों ने इसे दक्षिणपंथी संघठनों से जोड़ कर देखा है.

देश के विभिन्न शहरों में लंकेश की ह्त्या के विरोध में प्रदर्शन और शोक सभाएं आयोजित की गयीं. उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी इस बात को लेकर हज़रतगंज स्थित गांधी प्रतिमा पर लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया.बिना किसी राजनीतिक बैनर के हुए इस विरोध सभा में अच्छी संख्या में लोग जमा हुए थे. इस पहल को सोशल मीडिया पर सदफ़ जाफ़र, प्रदीप शर्मा तथा अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं ने चलाया था.

https://www.facebook.com/BharatDuniya/videos/1722767744697049/

Leave a Reply

Your email address will not be published.