वसुंधरा राजे ग़लतफ़हमी में हैं कि कांग्रेस में कोई मतभेद है: अशोक गहलोत

February 12, 2018 by No Comments

राजस्थान में साल के अंत में विधानसभा चुनाव होने हैं. कांग्रेस और भाजपा के बीच होने वाले इस सीधे मुक़ाबले में जानकार ये मान रहे हैं कि इस बार कांग्रेस का पलड़ा थोड़ा भारी है. हाल ही में हुए उपचुनाव में जिस प्रकार से कांग्रेस ने भाजपा को हराया है उससे यही लगता है कि अब फ़िज़ा बदल गयी है. इसके बावजूद कांग्रेस की जो सबसे बड़ी चिंता राजस्थान में है वो है मुख्यमंत्री के उमीदवार को लेकर.

असल में राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष सचिन पायलट और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत दोनों ही मुख्यमंत्री पद की दौड़ में शामिल हैं. इस बीच गहलोत ने एक बड़ा बयान दिया है. उन्होंने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि जब सचिन पायलट राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष चुने गए थे तो उनसे मिलने आये थे. गहलोत ने बताया,” उन्हें मैंने ये बात कही थी कि आप इस बारे में ध्यान रखना”. गहलोत ने पायलट को सलाह दी कि जो उन्हें सीएम इन वेटिंग के बतौर पेश कर रहे हैं वो ऐसे दोस्तों से सावधान रहें.

गुजरात चुनाव में प्रभारी के बतौर कांग्रेस को उम्मीद से बेहतर नतीजे दिलाने वाले गहलोत को यक़ीन है कि इस बार राजस्थान में कांग्रेस की सरकार आएगी.उन्होंने अपने मुख्यमंत्री उमीदवार होने पर कहा,”मैं भाग्यशाली हूं कि मुझपर कांग्रेस नेता इंदिरा गांधी से लेकर राजीव गांधी, सोनिया गांधी से लेकर अब राहुल गांधी ने भरोसा जताया. मैंने किसी के लिए कभी कोई लॉबिंग नहीं की. जो भी हाई कमान ने फैसला किया, मैंने वही किया.” उन्होंने भाजपा नेता और राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भी आगाह किया कि वह इस ग़लतफ़हमी में ना रहें कि कांग्रेस नेताओं के बीच कोई अंदरूनी मतभेद है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *