गोरखपुर- भाजपा नेत्री ने मोबाइल चोर को छुड़ाने के नाम पर मांगे 50 हज़ार; गिरफ़्तार!

गोरखपुर: पुलिस और गोरखनाथ मंदिर के सचिव को रिश्वत देने के नाम पर एक ठगी का मामला सामने आया है. भाजपा की एक महिला नेता पर ये आरोप लगा है कि उन्होंने एक मोबाइल चोर को छुड़ाने के नाम पर चोर की माँ से पैसे वसूले. कूड़ाघाट निवासी भाजपा की महानगर मंत्री सविता सिंह को 50 हज़ार रूपये वसूलने के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया गया है. उन्हें रक़म के साथ पकड़ा गया है.

इलाहिबाग़ निवासी अरुण पाण्डेय के बेटे हर्षित पाण्डेय को मोबाइल खींचने के इलज़ाम में गिरफ़्तार किया गया. इसके बाद हर्षित की माँ और उनके परिवार के दूसरे सदस्य हर्षित को छुड़ाने के लिए लोगों से मिलकर सिफ़ारिश की जुगाड़ करने लगे. इसी सब में उनका संपर्क सविता सिंह से हो गया. ऐसा आरोप है कि सविता ने हर्षित को थाने से छुड़ाने के नाम पर 50 हज़ार रूपये मांगे जिसके बारे में भाजपा नेत्री ने कहा कि 25 हज़ार गोरखनाथ मंदिर के सचिव को जायेंगे और 25 हज़ार थाने. हर्षित की माँ प्रभा पाण्डेय ने बेटे के स्नेह में ये पैसे सविता को दे दिए लेकिन 13 अक्टूबर की तारीख़ में हर्षित को थाने से जेल भेज दिया गया. ऐसा होने पर प्रभा ने सविता से लिया हुआ पैसा वापिस माँगा तो सविता ने टालमटोल करना शुरू कर दिया.

प्रभा ने इसके बाद भाजपा नेत्री के ख़िलाफ़ पुलिस में शिकायत दर्ज की. सविता के ऊपर धोकाधड़ी, जालसाज़ी और मौत का डर दिखाकर पैसा लेने का आरोप है. बताया जा रहा है कि इस मामले में पीढित महिला मुख्यमंत्री से भी मिली थी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर ही भाजपा नेत्री के ख़िलाफ़ कार्यवाही हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.