GST के असर से बेहाल हैं अलीगढ के ताला-व्यापारी

अलीगढ: भारत सरकार के नए माल और सेवा कर यानी GST को जब लांच किया गया था तो केन्द्रीय सरकार ने दावा किया था कि इससे व्यापार और देश के आम लोगों को फ़ायदा होगा लेकिन अभी तक जो ख़बरें आ रही हैं इसके उलट हैं.

अलीगढ से आ रही ख़बरों के मुताबिक़ शहर की मशहूर ताला इंडस्ट्री ताला लगने की कगार पर है. इसकी प्रमुख वजह GST नहीं इसकी दर है. सरकार ने तालों पर 18% माल और सेवा कर लगाया है जो पहले के 2% की 800% अधिक है. कर की दर बढ़ जाने के बाद से बाज़ार फीके पड़ गए हैं और ख़रीदार ग़ायब हो गए हैं.

कुछ जानकारों के मुताबिक़ परेशानी नोटबंदी से शुरू हो गयी थी. अचानक हुए नोटबंदी के फ़ैसले की वजह से लाखों का नुक़सान हुआ. अब जबकि कुछ बाज़ार ठीक होने लगा था GST ने बाज़ार को तोड़ दिया है.

हालाँकि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दावा किया है कि इससे लम्बी अवधि में फ़ायदा होगा लेकिन उस अवधि तक आम व्यापारियों की समस्या का हल भी सरकार को ढूंढना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.