गुजरात में भाजपा के विकास की पोल खोलती ये रिपोर्ट..

November 26, 2017 by No Comments

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ग्रहराज्य गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनाव इस वक़्त देश में चर्चा का अहम मुद्दा बना हुआ है। ये मुद्दा हर तरफ इसलिए गर्माया हुआ है क्यूंकि इस बार राज्य की जनता बीजेपी की पक्षधर नजर नहीं आ रही। इस बार के सियासी समीकरणों से साफ़ हो रहा है कि बीजेपी के लिए इस बार के विधानसभा चुनाव जीतना इस बार मुश्किल हो सकते हैं।
इस बार कांग्रेस का पलड़ा भारी है, इस बात का अंदाजा बीजेपी को भी लग चुका है। इसलिए बीजेपी राज्य में लोगों को आकर्षित करने की हर संभव कोशिश कर रही है। इसी कड़ी में कल पीएम मोदी भी गुजरात पहुंच रहे हैं, उनके समेत बीजेपी के तमाम नेता स्टार प्रचारकों की लिस्ट में शामिल हैं।
बीजेपी अपने प्रचार में उनके द्वारा किये गए विकास की बातों पर फिर से जीत के दावे कर रही है।  बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने इस वक़्त बीजेपी के लिए चुनाव प्रचार का पूरा मोर्चा संभल रखा है। अमित शाह गुजरात में बीजेपी के 22 सालों के राज में विकास की कई झलकियां जनता को दिखाते हैं, लेकिन क्या ये विकास की झलकी सच है या एक धोखा। ये आरबीआई की इस रिपोर्ट से साफतौर पर देखा जा सकता है। अमित शाह ने हाल ही में एक टीवी न्यूज चैनल पर बातचीत के दौरान दावा किया कि पिछले 5 सालों में बीजेपी ने अपने राज्यों में कांग्रेस शासित राज्यों की तुलना में तीन गुना बेहतर विकास किया है। जिसमें गुजरात भी शामिल हैं।

न्यूज 18 से बातचीत में उन्होंने कहा कि किसी भी कांग्रेस शासित राज्य में पांच साल के दौरान हुए काम को देखिए, गुजरात विकास के मामले में उनसे तीन गुना आगे है। हम इस मुद्दे पर कांग्रेस के साथ चर्चा करने को तैयार हैं।
हालांकि आरबीआई द्वारा जारी किये गए आंकड़ों के मुताबिक, गुजरात में करीब 16 फीसदी जनता जोकि लगभग 1.02 करोड़ लोग होते हैं, बीपीएल ने नीचे जीवन बतीत करने को मजबूर हैं। हैरान करने वाली बात ये है कि यह स्थिति तब है जब गुजरात में बीजेपी पिछले 22 सालों से शासन कर रही है और अपने शासन के दौरान गुजरात से गरीबी मिटाने और विकास के निरंतर दावे कर रही है। आपको बता दें की गुजरात में 9 और 14 दिसंबर को दो चरणों में चुनाव होने वाले हैं। गुजरात चुनाव में बीजेपी और कांग्रेस एक दूसरे को बड़ी टक्कर देने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रही हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *