गुजरात में सियासी हलचलें और तेज़, राहुल गाँधी से मिले हार्दिक पटेल

गांधीनगर: एक बात तो साफ़ हो गयी है कि इस बार के गुजरात विधानसभा चुनाव हर बार से कहीं ज़्यादा दिलचस्प होने वाले हैं. हर एक मोड़ पर नए सियासी पहलु खुल रहे हैं. गौर किया जाए तो ऐसा ही लगता है कि भाजपा कमज़ोर पड़ रही है लेकिन चुनाव तक माहौल कैसा रहने वाला है इस बात को कोई नहीं जानता.

तमाम अटकलों के बीच रात पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी से होटल में मुलाक़ात की. इस ख़बर की पुष्टि ख़ुद हार्दिक पटेल ने भी कर दी है. रात 12 बजे हुई इस मुलाक़ात के बाद भाजपा के नेताओं की चिंताओं में और इज़ाफ़ा हो गया है.

पाटीदार नेता हार्दिक पटेल यूँ तो साफ़ किया है कि वो कांग्रेस पार्टी में शामिल नहीं हो रहे लेकिन ये बात साफ़ है कि उनका झुकाव कांग्रेस की तरफ़ ज़्यादा है.

दूसरी ओर भाजपा को इस बात से भी बड़ा झटका लगा है कि OBC नेता अल्पेश ठाकुर कांग्रेस में चले गए हैं. भाजपा नेता रवि शंकर प्रसाद ने अल्पेश के कांग्रेस ज्वाइन करने पर बहुत से ऐसे तर्क पेश करे जिससे वो ये साबित करना चाह रहे थे कि वो और उनका परिवार पुराने कांग्रेसी हैं. प्रसाद शायद ये सब तर्क देकर भाजपा को होने वाले नुक़सान को कम करना चाह रहे हैं. बहरहाल, 22 साल से गुजरात पर हुकूमत करने वाली भाजपा के लिए फिलहाल अपना गढ़ बचाना मुश्किल लग रहा है.

अल्पेश ठाकुर और हार्दिक पटेल के अलावा जिग्नेश मेवानी भी गुजरात चुनाव पर विशेष प्रभाव डाल सकते हैं. भाजपा के लिए मुश्किल ये है कि ये तीनों नेता भाजपा की नीतियों का समर्थन नहीं करते. कुल मिलाकर ऐसा कहा जा सकता है कि कांग्रेस राज्य में उपजे आन्दोलनों से चुनाव के लिए माहौल तैयार करने में कामयाब रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.