हमबिस्तरी से पहले बीबी को ये चीज़ ज़रूर दे दे वरना वो हराम हो जाती है,हुजुर(स.अ.व.) ने फरमाया..

अस्स्लामालेकुम दोस्तों,बीबी और शौअहर का रिश्ता बड़ा पाक है दुनिया में अल्लाह ने बाकी रिश्ते तो अपने आप तय किये जैसे कि बाप बेटे,बाप बेटी,माँ बेटे,माँ बेटी और दीगर रिश्ते सगे रिश्ते भी लेकिन मिया और बीबी का रिश्ता ऐसा है जो दोनों अपनी मर्ज़ी से तय करते है.अल्लाह ने दुनिया में हम लोगो के लिए वैसी ही अचार संहिता बनाई है जैसा इले’क्शन में चुनाव आयोग राजनी’तक पार्टियों के लिए बनाता है.

दोस्तों कई बार हम लोगो जानकार और कभी अनजाने में गुना.ह कर देते है अगर जानकारी गुना’ह कर रहे है फिर तौबा करके दुबारा गु.नाह ना करे और अगर अनजाने में हो रहे है तो इस्लामिक मालूमात को बढाए ताकि गु.नाहों से बचा जाए.

जैसा कि हमने आर्टिकल की शुरुआत में बताया कि शौहर और बीबी का रिश्ता सबसे पाक है.अल्लाह ने बीबी के लिए शौहर पर शौहर के लिए बीबी पर कई फ़र्ज़ तय किये है.

दोस्तों बहुत से लोग शादी के बाद पहली रात बीबी से मैहर दिए बिना या फिर मा.फ़ करा के हमबिस्तरी कर लेते है.अगर आप ने मैहर पे कोई मामला तय करे बिना ऐसा किया

फिर आप गुना.हगार है और आपने बीबी का हक नही दिया और अगर आपने ने ऐसा नही किया तो बीबी के साथ हमबिस्तरी ह’राम है.

अगर आप ने माफ़ करा के ऐसा किया और बीबी ने माफ़ी कर दिया लेकिन आपकी हैसियत ऐसी थी कि आप दे सकते थे इस सुरत में भी आप ने गुना’ह किया और अल्लाह की नफ़रमानी की.

बेहतर ये है कि निकाह में जितनी मैहर आपने तय की है वो बीबी को ज़रूर दे.जितना दे सकते है निकाहनामे उतने का प्रस्ताव रखे.

दोस्तों हुजुर स.अ.व. ने हमको अल्लाह का फरमान बताया और पैगम्बर मुहम्मद स.अ.व. के बताये तरीके पे ना चलना गु’नाह है.

आपको ये जानकारी कैसी लगी कमेन्ट बॉक्स में लिखकर ज़रूर बताये.अल्लाह हम सब के गुना’हो को माफ़ी दे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.