हामिद अंसारी ने इशारों-इशारों में ही नीतीश पर कर दिया ये कटाक्ष..

November 5, 2017 by No Comments

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शायद देश के ऐसे नेता हैं जिन्हें विपक्ष के बड़े नेता “पल्टूराम” कह कर बुलाते हैं. अपनी बात से पलट जाने वाले को पल्टूराम कहते हैं. नीतीश ने अटल बिहारी बाजपाई के दौर में भाजपा से गठबंधन किया और किसी तरह बिहार की सत्ता में जगह बनायी. इसके बाद भी वो नरेंद्र मोदी की साम्प्रदायिक छवि से परेशान रहते थे और कोशिश करते थे कि उनके साथ मंच ना साझा करें. फिर भाजपा ने मोदी को ही प्रधानमंत्री उमीदवार घोषित कर दिया तो नीतीश ने भाजपा से राबता ख़त्म कर लिया.

नीतीश के समर्थकों ने कहा कि ये असली सेक्युलर है कि उसने सत्ता को किनारे रख दिया. बिहार में मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी बने लेकिन बाद में नीतीश ने उनसे इस्तीफ़ा ले लिया. इसके बाद राजद से गठबंधन हुआ और लालू ने सेकुलरिज्म बचाने के सवाल पर नीतीश से हाथ मिला लिया लेकिन इस साल अचानक ही नीतीश ने राजद छोड़ साम्प्रदायिक कहलाई जाने वाली भाजपा का दामन थाम लिया.

राजद और कांग्रेस ने जदयू नेता के बिना किसी ख़ास वजह के लिए गए इस फ़ैसले पर उनकी सख्त आलोचना की. जानकारों ने भी माना कि नीतीश भले ही अभी केंद्र की सत्ता पे क़ाबिज़ भाजपा से कुछ लाभ उठा लें लेकिन आने वाले दिनों में ये उनके लिए ही घातक होगा.

कल पटना में आयोजित एक प्रोग्राम के दौरान पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर कटाक्ष किया. नीतीश भी यहाँ आये हुए थे और दशर्कदीर्घा में बैठे प्रोग्राम का आनंद ले रहे थे. अंसारी ने कहा,”यहाँ बाग़ी भी पैदा होते हैं और प्रेमी भी पैदा होते हैं”. पूर्व सांसद सैयद शहाबुद्दीन के स्मृति समारोह में हो रहे प्रोग्राम में अंसारी ने कहा कि बिहार की सरज़मीं में अजब ख़ूबी है..”. उन्होंने कहा कि अक्सर ये देखा गया है कि बाग़ी प्रेमी हो गया और प्रेमी बाग़ी… यही कारण है कि कल जो प्रेमी थे, वो आज बाग़ी हो गए.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *