बीजेपी मुझे फंसाने के लिए फर्जी सेक्स सीडी जारी कर सकती है: हार्दिक पटेल

गांधीनगर: गुजरात विधानसभा चुनाव में अब बहुत कम वक़्त बाकी है। गुजरात की राजनीति में बीजेपी को मात देने के लिए नया बदलाव का नया चेहरा बनकर उभरे पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने गुजरात सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। हार्दिक ने बयान दिया है कि बीजेपी जान चुकी है कि इस बार के विधानसभा चुनाव में उनके तमाम दांव-पेंच बेकार जा रहे हैं। इस लिए गुजरात में बीजेपी जीतने के लिए अनुचित तरीके अपना सकती है।
हार्दिक का कहना है कि चुनाव जीतने के लिए बीजेपी उन्हें बदनाम करने साजिश रच सकती है। यही नहीं बीजेपी बदनाम करने के लिए सेक्स CD जैसे किसी कांड का सहारा ले सकती है। हार्दिक के मुताबिक, चुनाव के दौरान उन्हें नीचा दिखाने के लिए बीजेपी ने फर्जी सेक्स सीडी तैयार की है। जिसे ठीक चुनाव से पहले जारी किया जाएगा। क्यूंकि बीजेपी से हम इस तरह की घटिया राजनीति की ही उम्मीद कर सकते हैं। इससे ज्यादा बीजेपी से और क्या अपेक्षा की जा सकती है। इसलिए इंतजार करिए, देखिए और आनंद लीजिए।’

जब हार्दिक से पूछा गया कि आपको सीडी के बारे में कैसे पता चला तो उन्होंने कहा, क्यूंकि बीजेपी की खासियत है। वहीँ गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष जीतू वाघानी ने हार्दिक के आरोपों का जवाब देने से दूरी बनाई हुई है। गौरतलब है कि गुजरात चुनाव में अहम किरदार बन चुके हार्दिक पटेल लगातार बीजेपी पर हमलावर होते जा रहे हैं।
हार्दिक पटेल ने यह भी आरोप लगाया है कि गुजरात चुनाव में खराब वीवीपीएटी मशीनों का इस्तेमाल किया जा सकता है। चुनाव आयोग के पहले चरण की जांच में 3550 वीवीपीएटी मशीनें फेल हो गई हैं। हार्दिक का कहना है कि मैं पूरे दावे के साथ कह सकता हूं कि बीजेपी इस बार जीत हासिल करने के लिए गोलमाल करके ही चुनाव लड़ेगी।
दरअसल चुनाव आयोग ने ऐलान किया था कि वह गुजरात के सभी 50,128 मतदान केंद्र पर वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपीएटी) के साथ इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) का इस्तेमाल करेगा। इसके साथ हार्दिक ने ट्वीट कर हमला बोला. उन्होंने लिखा कि पिछले 22 साल में जितने भी आंदोलन हुए हैं, बीजेपी की सरकारों ने कोई भी मांग को स्वीकार नहीं किया है। इससे पहले हार्दिक ने पीएम मोदी पर ट्वीट किया था कि मोदी जी को प्रधानमंत्री बनाने का जो हमने प्रयोग किया था, वह बिल्कुल असफल निकला था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.