पति-पत्नी से कहता था सामने सम्बन्ध’ बनाओ, ढोंगी बाबा को..

October 25, 2018 by No Comments

कबीर की अमरवाणी कहती है कि ‘गुरु गोविंद दोऊ खड़े काके लागूं पांय, बलिहारी गुरु आपने गोविंद दियो बताय’.जब संसार की इस विशाल भूल-भुलैया में भटकने लगें तो हाथ पकड़ कर सही रास्ते पर ले जाता है गुरु. जब आत्मा में वास कर रहे ईश्वर से साक्षात्कार करना हो तो दिशा बताता है गुरु. जब जन्म-मृत्यु के चक्र से उबर कर मोक्ष प्राप्त करना हो तो साधन बनता है गुरु. सत्य-असत्य का भेद कराता है गुरु. सांसरिक बंधनों से मुक्ति दिलाता है गुरु.

इस युग मे बहुत से ऐसे बाबा है जो खुद को संत, बाबा, बापू और यहां तक कि भगवान आदि संबोधनों से कहलवाना और इस तरह इन पवित्र संबोधनों को बदनाम करना पसंद करते हैं.दरअसल बात महाराष्ट्र के एक ढोंगी बाबा की है जिसने एक पति और पत्नी को अपने सामने संबंध बनाने के लिए मजबूर किया।

आपको बता दे दंपती बच्चा पैदा न होने की समस्या को लेकर ढोंगी बाबा के पास गया था। मुंबई के ठाणे की जिला न्यायाधीश पीपी जाधव ने मंगलवार को आरोपी योगेश कुपेकर को महाराष्ट्र मानव बलि एवं अन्य अमानवीय, शैतानी, अघोड़ी प्रथाएं और काला जादू रोकथाम और उन्मूलन अधिनियम, 2013 और आईपीसी की धाराएं 376 (यौ-न हमला) और 354 (छेड़खानी) के तहत दोषी ठहराया। अदालत ने उस पर 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।

दरअसल पहले तो ये बाबा अपनी उल्टी सीधी बातें कर लोगों को गुमराह करते हैं. कभी ताबीज तो कभी भभूत देकर आंखों में धूल झोकते हैं. जीवन के दुखों, कष्टों और तकलीफों का हल ढूंढने वालों को तत्काल समस्याएं हल कराने का झांसा देते हैं. किसी को नौकरी चाहिए, किसी की शादी नहीं हो रही, किसी को बच्चा नहीं हो रहा, किसी पर लक्ष्मीजी की कृपा नहीं हो रही, ये आधुनिक बाबा सारी समस्याओं के हल का दावा करते हैं.

पीड़ित दंपती के मुताबिक 2016 में कुपेकर ने गर्भधारण में मदद पहुंचाने के लिए उपचार के बहाने महिला और उसके पति को अपने सामने संबंध बनाने के लिए मजबूर किया। उसने कहा था कि इससे वह महिला के शरीर से अवगुणों को निकाल देगा। इसके बाद दंपती ने ठाणे पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत में उन्होंने महिला से बलात्कार करने, छेड़खानी करने और 10 हजार रुपये ऐंठने का आरोप लगाया।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *