पाकिस्तान की सेना में कितने हिंदू और सिख सैनिक हैं?

March 5, 2019 by No Comments

हाल ही में जम्मू कश्मीर के पुलवामा ह’मले के बाद भारतीय सेना और पाकिस्तान की सेना के बीच चल रहे त’नाव के चलते आज कल सोशल मीडिया पर सेना से जुड़ी कई बातें सामने आ रही है।हाल ही में सोशल मीडिया पर यह चर्चा जोरों शोरों से चल रही थी कि भारतीय सेना में मुस्लिम रेजिमेंट क्यों नहीं होती।अब पाकिस्तान की सेना में हिंदू और सिख सैनिकों की संख्या पर चर्चा ने चोर पकड़ लिया है।
आपको बता दें कि पाकिस्तान में हिंदू और सिख अल्पसंख्यक हैं और इन्हें हर परीक्षा में बैठने की इजाजत है।लेकिन फिर भी पाकिस्तान की सेनाओं में अल्पसंख्यकों खासकर हिंदू और सिक्खों की गिनती उंगलियों पर की जा सकती है।बता दें कि पाकिस्तान की स्थापना से लेकर सन 2006 तक वहां की सेनाओं में हिंदू और सिखों को बहुत ही कम जगह दी जाती थी।हालांकि पाकिस्तान की सेना में कई ईसाई सैनिक शामिल है।

पाकिस्तानी आर्मी


साल 2006 न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के हवाले से यह खबर सामने आई थी कि पाकिस्तान की सेना में पहली बार एक हिंदू को सेना में भर्ती किया गया है इस खबर में यह भी बताया गया था कि कुछ दिन पहले ही एक सिख युवक को भी पाकिस्तानी सेना में शामिल किया गया है।इस हिंदू युवक का नाम दानिश है और वह इस वक्त पाकिस्तानी आर्मी में कैप्टन है।
दानिश ने बताया था कि पाकिस्तानी सेना में शामिल होने के लिए उन्हें पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ से प्रेरणा मिली थी।दानिश का कहना है कि पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ में कई सारी खूबियां है जो कि एक महान नेता में होनी चाहिए।साल 2005 में ननकाना साहिब के हरचरन सिंह पाकिस्तान की सेना में भर्ती होने वाले पहले सिख युवक थे।

पाकिस्तान सेना


इसके बाद साल 2010 में अमरजीत सिंह नाम के एक और सिख युवक को पाकिस्तानी रेंजर के तौर पर भर्ती किया गया।अमृतसर-पाकिस्तान के वाघा बॉर्डर पर होने वाली परेड के दौरान भी वे चर्चा में आए थे।वहीं बाद में एक सिख युवक पाकिस्तानी कोस्ट गार्ड के तौर पर भी भर्ती किया गया।अब ये सिलसिला और बढ़ गया है।धीरे-धीरे कुछ हिंदू और सिख अल्पसंख्यकों को पाकिस्तानी सेनाओं में जगह मिलने लगी है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *