हिमाचल प्रदेश चुनाव: EC का कड़ा रुख, राजनीतिक दलों महंगा पड़ सकता है पैसे का लेन-देन, होगी सख्त कार्रवाई

October 19, 2017 by No Comments

बिलासपुर: हिमाचल प्रदेश में 9 नवंबर को विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। त्योहारों के सीजन में हो रहे चुनाव के दौरान राजनीतिक दल राज्य में मतदाताओं को लुभाने की कोशिशें कर सकते हैं। इस तरह की आशंकाओं के बीच इलेक्शन कमीशन ने सख्त रुख अपनाया है। इस मामले में कड़े कदम उठाते हुए डीसी और जिला निर्वाचन अधिकारी ऋग्वेद ठाकुर ने घोषणा की है।

उनका कहना है कि अगर कोई शख्स या चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशी धनराशि, पुरस्कार लेता या देता है और इस लेन-देन की वजह से किसी आम आदमी के मतदान करने के अधिकार पर असर पड़ता हो तो आईपीसी की धारा 171 (ख) के तहत से रिश्वत की श्रेणी में माना जाएगा। प्रत्याशी के साथ-साथ ये उस शख्स के लिए भी महंगा पड़ सकता है, जो अपने मतदान के अधिकार पर जुएबाजी करेगा।ऐसी कोई भी शिकायत आने पर दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज हो सकता है। निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान लेन-देन करने वालों को एक साल की जेल और जुर्माने की सजा तक भुगतनी पड़ सकती है।

डीसी ऋग्वेद ठाकुर का कहना है कि चुनाव के दौरान इस तरह के मामलों पर नजर रखने के लिए जिले के चारों विधानसभा क्षेत्रों में फ्लाइंग स्क्वायड गठित किए गए हैं।यह टीमें इस बात का ख्याल रखेंगी कि उम्मीदवार और कोई अन्य शख्स रिश्वत लेने और देने का काम तो नहीं कर रहा।  अगर उन्हें इस की भनक लगती ही तो ऐसा करने वाले शख्स के खिलाफ मामला दर्ज करके नियमानुसार कार्रवाई किया जायेगा।

लिहाजा बेहतर होगा कि मतदान प्रक्रिया के दौरान लोग इस तरह के लेन-देन से परहेज करें। इसके साथ उन्होंने कहा है कि अगर किसी शख्स की नजर में इस तरह के लेन-देन का मामला सामने आता है तो वह जिला स्तर पर गठित सैल में स्थापित निशुल्क टेलीफोन नंबर 1800-180-8023 पर इस बारे शिकायत कर सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *