रैगिंग के ख़िलाफ़ IIT सख्त, 22 छात्रों को किर बर्ख़ास्त

October 11, 2017 by No Comments

कानपुर: प्रतिष्ठित सस्थान इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी में रैगिंग का मामला सामने आया है. IIT, कानपुर में आये इस मामले में डिप्टी डायरेक्टर मनिन्द्र अग्रवाल ने सख्त कार्यवाही की है.

अग्रवाल ने बताया है कि इस मामले में 22 छात्रों को ससपेंड कर दिया गया है जिनमें से 16 छात्रों को 3 साल के लिए और 6 छात्रों को एक साल के लिए.

रैगिंग के मामलों में आम तौर पर संस्थान सख्त कार्यवाही करने से बचते हैं लेकिन इस बार शायद IIT, कानपुर छात्रों के बीच एक सन्देश देना चाह रहा था.

क्या है रैगिंग?
रैगिंग एक बहुत गंभीर समस्या है. शिक्षण संस्थानों में सीनियर छात्र अपने जूनियर छात्रों के साथ जब बदतमीज़ी करते हैं और उनसे उलटे सीधे काम करवाते हैं..तो इसे रैगिंग कहा जाता है. इसमें सिर्फ़ हंसी मज़ाक़ की बात नहीं होती, रैगिंग के नाम पर छात्रों से गुंडागर्दी, उनपर दबाव बनाना, उन्हें ऐसा काम करने पर मजबूर करना जो उनकी जान को खतरे में डाल दे.. ये सब रैगिंग का हिस्सा है. रैगिंग को लेकर भारत में सख्त क़ानून है.

कुछ अन्य ख़बरें, एक नज़र में..
1. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में 50 संकल्प सेवा बसों को हरी झंडी दिखायी.

2. आज जयप्रकाश नारायण की 114वाँ जन्म दिवस है. इस मौक़े पर देश के विभिन्न हिस्सों में गोष्टी के कार्यक्रम रखे गए हैं.

3. दूसरे टी20 क्रिकेट मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हरा दिया. इसी के साथ तीन मैच की सीरीज़ 1-1 की बराबरी पर आ गयी है.

4. आज बॉलीवुड के मशहूर कलाकार अमिताभ बच्चन का भी जन्म दिवस है. उन्होंने दीवार, शोले, सौदागर जैसी फ़िल्मों में काम किया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *