इमरान की पेशकश का पत्रकार ने किया स्वागत,बोले-मीडिया अभिनंदन को 'ब'लि का ब'करा' बना रही है

February 28, 2019 by No Comments

पाकिस्तान अपनी फ़ौज़ी कारगुजारियों के लिए दुनिया में बदनाम है।आ’तंक के सरगनाओं को पनाह देता है और भारत में अ’शांति फैलाने के कुचक्र रचता है।लेकिन त’नाव के इस दौर में इमरान ख़ान ने जो बातचीत का संदेश भेजा है,हमें उस पर अमल करना चाहिए।वह संदेश प्रॉम्प्टर पर पढ़ी गई इबारत नहीं लगता है।हो सकता है मजबूरी में बोले हों,या ड’र कर,जैसा कि अपने टीवी पर कल सुना।पर जं’ग में समझदारी नहीं है-यह वक़्त की पुकार है।इसे क्या हम नहीं समझते हैं?
क्या हम नहीं जानते कि पुलवामा के शहीदों का बदला दूसरी बेशुमार शहा’दतों से हासिल नहीं किया जा सकता?कश्मीर में हज़ारों नागरिक और सैनिक-सिपाही मा’रे का चुके हैं।न भूलें कि यही हाल देश के न’क्सल पीड़ित क्षेत्रों का भी है।पाकिस्तान से यु’द्ध क्या हमें हमारी तमाम उ’ग्रवादी मुश्किलों से निजात दिला देगा?

om thanvi


नहीं भूलना चाहिए कि पहला विश्वयु’द्ध एक हत्या के जवाब में भड़का था।लड़ाई छिड़ी।बढ़ती चली गई।फिर किसी के क़ाबू में न रही।लाखों लोग मारे गए। लाखों अपंग हो गए।घर उजड़ गए। शहीदों (ख़याल रखें,दोनों तरफ़ शहीद ही कहलाते हैं) के अनाथ आ’श्रित घरों में तमग़े टाँग कर अपनी क़िस्मत को रोते रहे-जो उन पर मूर्ख नेताओं के विवेकहीन फ़ैसलों ने थोपी थी।
बहादुर और संजीदा विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तान के हाथ पड़ गए हैं।हर भारतीय का दिल उनके हाल पर उमड़ा आता है।हर सू माँग है कि उन्हें सुरक्षित वापस लाओ। हमारे हमले में 300-350 आतंकियों के मारे जाने की संदिग्ध जानकारी (वायुसेना या सरकार ने ऐसा दावा कभी नहीं किया,न मीडिया के पास अपने दावे का कोई सबूत है) जब 400 तक पहुँचाई जाने वाली थी,अभिनंदन की गिरफ़्त ने देश को ग़मगीन कर दिया।

om thanvi


गोदी मीडिया के भोंपू एंकर अब अगर यह तक कह जाएँ कि हम 1000 आतंकी मार आए थे.तब भी उनके दावे पर एक अकेले अभिनंदन की खतरे में पड़ी जान भारी पड़ेगी।ऐसी घड़ी में विवेकशील भारतीय की एक ही माँग होगी:अभिनंदन को लाओ और यह भरोसा दो कि चुनावी गोरखधंधे में अपनी नाकामियों पर परदा डालने के लिए और अभिनंदनों को बलि का बकरा नहीं बनाया जाएगा।जय हिंद।
वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी ने सोशल मीडिया पर अपने निजी विचार ताज़ा भारत पाक तनाव पर दिए है.ये आर्टिकल उनकी सोशल मीडिया वाल से लिया गया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *