इंदिरा ने जो “आईडिया ऑफ़ इंडिया” दिया था वो बढ़ती असहिष्णुता से ख़तरे में है: राहुल गाँधी

नई दिल्ली: आज भारत की पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी की पुण्यतिथि पर कर्नाटक के मशहूर संगीतकार और सोशल एक्टिविस्ट टी एम कृष्णा को राष्ट्रीय एकता और सद्भावना को बढ़ावा देने के लिए सम्मानित करते हुए अवार्ड दिया गया। इस मौके पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने इंदिरा गांधी को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि समर्पित की और कहा की उनके लिए राष्ट्रीय एकता से बढ़कर कुछ नहीं रहा। उन्होंने हमेशा उदारवादी और सहिष्णु भारत का सपना देखा था। उनकी पुण्यतिथि पर ये अवार्ड हम उन शख्सियतों को देते हैं, जोकि उनके भारत के भविष्य के लिए उनके द्वारा देखे गए सपने को साकार करने की कोशिश और समाज में राष्ट्रीय एकता का सन्देश दे रहे हैं। उन्ही की तरह देश की जनता को अंधेरे की ताकतों के खिलाफ बिना किसी समझौते से निडर होकर डट कर खड़े होने का हौंसला दे रहे हैं।

इन मूल्यों और सिद्धांतों को देखते हुए इस बार ये अवार्ड टी एम कृष्णा को दिया गया। इस कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राहुल ने कहा कि टी एम कृष्णा ने ६ साल की उम्र में कर्नाटक संगीत में अपने करियर की शुरुआत की। आज उन्हें इस करियर में २५ साल पूरे हो चुके हैं। उन्होंने कर्नाटक संगीत के ऊपर किताबे में लिखी हैं। संगीत के साथ कृष्णा ने सामाजिक विषयों पर काम करते हुए भी काफी उपलब्धियां हासिल की है। राहुल ने इसके अतिरिक्त कहा कि इंदिरा गाँधी की ही तरह हम सबको भी निडर और अंधेरों से लड़ना चाहिए.

उन्होंने कहा कि इंदिरा गाँधी का जो आईडिया ऑफ़ इंडिया था वो आजकल के समय में असहिष्णुता के बढ़ने से मुश्किल में है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.