इनकी हैसियत क्या थी… सत्ता के लालची नीतीश कुमार को तेजश्वी की सराहना से डर लगने लगा था: लालू यादव

पटना: राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने आज फिर जदयू अध्यक्ष और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जम कर हमला बोला. उन्होंने नीतीश को सत्ता का लालची कहा. उन्होंने कहा कि उन्हें नीतीश कुमार पर कभी भरोसा नहीं था लेकिन मुलायम सिंह यादव ने कहा तो हमने मान लिया था. लालू ने कहा,’मैं नहीं चाहता था इस आदमी को आगे नेता खड़ा किया जाए इस पर कोई भरोसा नहीं, लेकिन मुलायम जी ने कहा, मान लो’.

उन्होंने कहा,’भूल गए नीतीश कुमार तुम्हारी हैसियत क्या थी, 2-2 एम्एलए इलेक्शन हारा, लोकसभा भी हारा’

लालू ने दावा किया कि नीतीश चाहते थे कि उनके बेटों को राजनीति से बाहर किया जाए और उनका ‘बलिदान’ लिया जाए. उन्होंने कहा,’नीतीश हमारे लड़कों का बलिदान देना चाहते थे, बलि चढ़ाना चाहते थे’

इसके इलावा बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कुमार क तेजश्वी यादव की सराहना से भय होने लगा. उन्होंने कहा,’जब इन्हें सपोर्ट किया, तेजश्वी के काम को देखा, सराहना होने लगी तो इनका कान खड़ा हुआ.

लालू ने इसके इलावा कहा कि 2019 का भी जयजयकार कर दिया कि नरेंद्र मोदी का कोई चैलेंज नहीं है, ये तो मिला हुआ है शुरू से.

लालू ने वरिष्ट जदयू नेता का पक्ष लेते हुए कहा कि शरद यादव ने अपना जीवन दांव पर झोंक दिया था इनको (नीतीश कुमार) को मेरे ख़िलाफ़ जिताने के लिए.

गौरतलब है कि नीतीश कुमार के भाजपा से हाथ मिला लेने के बाद विपक्ष एकजुट होकर नीतीश की आलोचना कर रहा है. राजद भी खुल कर नीतीश का विरोध कर रही है और फ़िलहाल नीतीश कुमार के पास विपक्ष के किसी भी तर्क का कोई जवाब नज़र नहीं आ रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.