परमाणु समझौते पर रोक मामले में बातचीत करने को तैयार हुए ईरान और अमेरिका

March 18, 2018 by No Comments

तेहरान: ईरान और अमेरिका 2015 ईरानी परमाणु समझौता या संयुक्त व्यापक कार्रवाई योजना (जेसीपीओए) पर वार्ता करने को तैयार हो गए हैं।  समाचार पत्र तेहरान टाइम्स के मुताबिक, दोनों देशों के बीच ये वार्ता ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में हो सकती है हैं, ईरानी वार्ताकारों के एक करीबी सूत्र ने नाम न सार्वजानिक करने की शर्त पर ये जानकारी दी है कि ईरानी राजनयिकों की एक टीम ईरान के परमाणु समझौते के कार्यान्वयन के संबंध में नियमित वार्ता के लिए वियना दौरे पर हैं।
न्यूज़ एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, ईरान की सेनाओं के उपसेना प्रमुख ब्रिगेडियर जनरल मसूद जाजायेरी ने कहा है कि अमेरिका जिस हताशा के साथ ईरान की परमाणु क्षमताओं पर प्रतिबंध लगाने की बात कह रहा है, वह सपना कभी पूरा नहीं होने वाला। ईरान की परमाणु शक्ति को लेकर अमेरिका की चिंता क्षेत्र में उनकी निराशा और हार से उपजी है।

उन्होंने कहा था कि ईरान के मिसाइल कार्यक्रम के लिए वार्ता की पूर्व शर्त यह है कि अमेरिका और यूरोप अपने परमाणु हथियारों और लंबी दूरी की मिसाइलों को नष्ट करें। यह टीम अमेरिकी अधिकारियों सहित वार्ता में भाग ले रहे अन्य पक्षों के प्रतिनिधियों से मुलाकात करेगी।

आपको बता दें कि अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, फ्रांस, चीन और रूस समेत ईरान और अन्य दलों के प्रतिनिधियों ने वियना में शुक्रवार को जेसीपीओए संयुक्त आयोग का नवीनतम दौर लॉन्च किया। जेसीपीओए के तहत ईरान को अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंधों को उठाने के बदले में अपने परमाणु कार्यक्रम को सीमित करना चाहिए।

इस साल की शुरुआत में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान के खिलाफ परमाणु प्रतिबंधों को माफ कर दिया था, लेकिन चेतावनी दी कि जब तक यह सौदा तय नहीं हो जाता, तब तक वह ऐसा नहीं कर पाएगा। हालांकि तेहरान बार-बार यहीं कह रहा है कि वह परमाणु समझौते पर पुनर्विचार नहीं करेगा।

ईरान की सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने हाल ही में कहा था कि ईरान तब तक अपने मिसाइल कार्यक्रम पर बातचीत नहीं करेगा, जब तक यूरोप और अमेरिका अपने परमाणु हथियारों और मिसाइलों को नष्ट नहीं कर देते।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *