ईरान में नए राष्ट्रपति चुने जाने के बाद इज़राइल की ब’ढ़ी टें’शन, परमा’णु कार्यक्रम..

June 20, 2021 by No Comments

ईरान में हाल ही में हुए आम चुनाव के नतीजे आ गए हैं. इस चुनाव में जो परिणाम आए हैं वो काफ़ी अहम् माने गए हैं. चुनाव के नतीजों में आयतुल्ला रईसी विजय हासिल हुए. ईरान के चुनावी नतीजों का असर इजराइल की राजनीति पर भी पड़ने की उम्मीद है. ज़ा’योनी शासन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने ईरान के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति आयतुल्ला रईसी को एसा व्यक्ति बताया है जो इस बात के लिए कटिब’द्ध है कि ईरान के सै’न्य कार्यक्रम में तेज़ी से आगे बढ़ाया जाए।

लियूर हयात के कथनानुसर रईसी के चुनाव से ईरान के गो’पनीय विध’वंसक कार्यक्रम स्पष्ट हो गए हैं। अवै’ध ज़ायो’नी शासन के प्र’वक्ता का कहना है कि इसपर विश्व समुदाय को तत्काल अपनी चिं’ता व्यक्त करनी चाहिए। लियूर हयात ने कहा कि ईरान के परमा’णु कार्यक्रम को तुरंत रो’क दिया जाए और इसके साथ ही उसके मिसाइल कार्यक्रम को भी बंद कर देना चाहिए।

याद रहे कि ईरान बारंबार कहता आया है कि उसका परमा’णु कार्यक्रम केवल शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए है। अन्तर्राष्ट्रीय परमा’णु ऊर्जा एजेन्सी भी कई बार अपनी रिपोर्टों में इस बात की पुष्टि कर चुकी है। हालांक अवै’ध ज़ा’योनी शासन के पास 100 से लेकर 200 तक परमा’णु वाॅ’र हेड मौजूद हैं। इस शासन ने अभी तक एनपीटी पर हस्ताक्षर नहीं किये हैं।वह अपने पर’माणु प्रतिष्ठानों के निरीक्षण की अनुमति भी नहीं देता है।

उल्लेखनीय है कि ईरान में जहां आयतुल्लाह रईसी के राष्ट्रपति बनने पर खुशियां मनाई जा रही हैं और विश्व के नेता उन्हें बधाई संदेश भेज रहे हैं, अवै’ध ज़ायो’नी शासन की ओर से इस प्रकार की प्रतिक्रिया आई है जो उसकी विचारधारा को स्पष्ट करती है। (साभार- पार्स टुडे)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *