“इस सरकार से विकास की उम्मीद मत कीजिये..चुनाव से पहले ये ऐसा मुद्दा लायेंगे कि सब बहक जायेंगे”

September 20, 2017 by No Comments

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा “श्वेत पत्र” निकाले जाने के बाद प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि सरकार ने श्वेत पत्र जारी किया है, जो सफेद झूठ है, ‘WHITE LIES” है. पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल में किये गए कामों को गिनवाते हुए कहा,”हमसे मेट्रो, एक्सप्रेस-वे बनवालो पर मंत्र उच्चारण का काम हम नहीं कर सकतें”.

उन्होंने कहा,”खेती की जनकारी के लिए सीएम मेरे घर पर पाए, चाय पर हम उन्हें किसानी के बारे में बताएंगे.. सीएम हमारे लगाए पेड़ देख कर नहीं बता पाएंगे कि पेड़ फल कौन सा देगा”

अखिलेश ने कहा कि इस सरकार से विकास की उम्मीद मत कीजिए, चुनाव से पहले ये ऐसा मुद्दा लाएंगे कि सब बहक जाएंगे, हम जनता को सावधान करना चाहते हैं.

उन्होंने कहा कि सीएम काम से दूर चले गए है, सिर्फ मंत्र उच्चारण पर ही उनका ध्यान. उन्होंने पूछा कि जो श्वेत पत्र एक महीने में आना था, क्या वजह है कि 6 महीने लग गए?.

किसानों की ऋण माफ़ी पर कहा,”प्रदेश का किसान कह रहा है कि उसके साथ धोखा हुआ है ..सरकार ने प्रमाण पत्र आंख बंद कर बांटे है, कर्ज माफी का प्रमाण पत्र बांटने से पहले सीएम उसे पढ़ लेते तो अच्छा रहता..किसानों का पूरा कर्ज माफ होना चाहिए”

उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि सीएम महरबानी कर एक्सप्रेस-वे पर से गाय माता औऱ गोबर हटवा दें, बहुत दिक्कत हो रही है.इसके इलावा उन्होंने कहा,”उप-मुख्यमंत्री बहुत पिछड़ गए हैं, उन्हें शास्त्री भवन में बैठने भी नहीं दिया गया, उनकी तख्ती भी हटवा दी गई”

अखिलेश ने दावा किया कि जितनी सड़कें उन्होंने बनवाई हैं ये सरकार नहीं बनवा सकती. उन्होंने कहा,”मथुरा में जितनी सड़कें हमने बनवाई, ये सरकार कभी नहीं बनवा सकती है”

हरियाणा के बलात्कारी बाबा राम रहीम इंसान के भाजपा नेताओं से सम्बन्ध पर अखिलेश ने कहा,”राम-रहीम के आश्रम में बीजेपी के नेता जाते थे, उसे छिपाने के लिए और मुद्दें लाए गए”

अखिलेश ने इसके इलावा शिक्षा मित्रों की समस्या पर भी अपनी बात रखी और कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें अपमानित करने का काम किया है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *