जदयू में भारी फूट: प्रशासन ने भोपाल दफ़्तर में लगाया ताला

भोपाल: जनता दल (यूनाइटेड) में चला आ रहा अंदरूनी गतिरोध समाप्त होने का नाम नहीं ले रहा है. जदयू अध्यक्ष नीतीश कुमार के महागठबंधन तोड़ने के बाद भाजपा में शामिल हो जाने से नाराज़ शरद यादव ने पार्टी पर अपना दावा तो किया ही है वहीँ उनके साथ समर्थकों की अच्छी फ़ौज है.

इस बीच भोपाल में जदयू के दोनों गुट अपने अपने दावे कर रहे थे और दफ़्तर पर दोनों ही गुट हक़ जमा रहे थे. प्रशासन ने फिलहाल जदयू के भोपाल दफ़्तर को सील कर दिया है ताकि कोई भी झगड़े की बात ना बन पाए.

गौरतलब है कि शरद यादव जदयू से राज्यसभा सांसद हैं और पार्टी के वरिष्ट नेता हैं. वो नहीं चाहते थे कि भाजपा से किसी तरह का कोई गठबंधन हो. उन्होंने इस बारे में कई बार कहा है कि जबकि दोनों पार्टियों का घोषणापत्र पूरी तरह से अलग अलग था तो दोनों पार्टी का साथ आना अनैतिक है.

भाजपा से गठबंधन करके सरकार बनाने वाले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार पर सृजन घोटाले में शामिल होने का आरोप लग रहा है. मुख्य विपक्षी नेता तेजश्वी यादव ने इस बारे में मुख्यमंत्री नितीश कुमार और उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. सृजन घोटाले को राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने इस घोटाले को मध्य प्रदेश के व्यापम से भी बड़ा घोटाला क़रार दिया है. उन्होंने कहा है कि ये घोटाला 10 हज़ार करोड़ का भी हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.