मुझे फंसाया जा रहा है क्यूँकि मेरी जीत से बीजेपी को 2019 में खतरा दिख रहा है: जिग्नेश मेवानी

January 5, 2018 by No Comments

महाराष्ट्र: पुणे में हुई जातीय हिंसा पर जहाँ विराम लग रहा है, वहीँ राजनीतिक लेवल पर ये मामला और गर्माता जा रहा है। गुजरात के वडगाम से विधायक और दलित कार्यकर्ता जिग्नेश मेवाणी ने आज इस मामले में दिल्ली में प्रेस कॉन्फेंस का आयोजन किया जिसमें उन्होंने बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा है।

भीमा-कोरेगांव में हिंसा भड़काने का आरोप झेल रहे जिग्नेश मेवाणी ने दलितों पर हो रहे अत्याचारों पर पीएम मोदी को जवाब देने के लिए कहा है। भीमा-कोरेगांव की घटना के 200 साल पूरे होने पर शांतिपूर्ण ढंग से कार्यक्रम किया गया। इसके साथ उनपर दक्षिणपंथी संगठन द्वारा लगाए गए आरोपों को उन्होंने नकार दिया है।

मेवाणी ने उस कार्यक्रम में भड़काऊ भाषण देने के आरोपों को पूरी तरह से खारिज करते हुए कहा कि वहां पर मेरे द्वारा दिया गया भाषण सोशल मीडिया पर मौजूद है। आप देख सकते हैं, उसमें कोई भी शब्द ऐसा नहीं है जो भड़काऊ हो।

उन्होंने कहा कि देश में दलित सुरक्षित नहीं हैं। क्या पीएम मोदी की दलितों के प्रति कोई प्रतिबद्धता है या नहीं ? वह खुद को अंबेडकर का भक्त बताते हैं तो इस मामले में कुछ बोल क्यों नहीं रहे। क्या इस देश में दलितों को शांतिपूर्ण रैली का हक नहीं है ?

दरअसल बीजेपी और आरएसएस के लोग मेरी छवि को खराब करना चाहते हैं। गुजरात चुनावों में 150 सीटों का दावा कर रही बीजेपी को 99 सीटें मिली हैं। जिससे उनका अहंकार टूट गया है। मेरी जीत से उन्हें 2019 में खतरा दिख रहा है।

उन्होंने अपने समर्थकों को हिंसा न फैलाने की गुजारिश की। उन्होंने कहा कि रैली के दौरान न तो वह मंच पर थे और बाद में भीमा कोरेगांव भी नहीं गए थे। अगले दिन महाराष्ट्र में विरोध बंद भी बुलाया गया था, उसके बाद भी वह उस बंद में शामिल नहीं हुए।

उन्होंने कहा कि मैं एक वकील हूँ और कानून के दायरे में रहना भली-भाँती जानता हूँ। गुजरात में निर्दलीय चुनाव जीतने के बाद मेरा कद और बढ़ गया है, इसलिए अब बीजेपी मेरे खिलाफ जानबूझकर कार्रवाई की जा रही है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *