खुदगर्ज़ कहूँ, ज़ुमलेबाज़ कहूँ, दयाहीन कहूँ इन्हें, ज़मीर देता नहीं इजाज़त कि मैं प्रधानमंत्री कहूँ इन्हें..

November 22, 2017 by No Comments

गांधीनगर: गुजरात के युवा दलित नेता जिग्नेश मेवानी ने बीजेपी और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सोशल मीडिया के जरिये निशाना साधा है।
जिग्नेश ने ट्विटर पर लिखा है कि खुदगर्ज़ कहूँ, ज़ुमलेबाज़ कहूँ, दयाहीन कहूँ इन्हें, ज़मीर देता नहीं इजाज़त कि मैं प्रधानमंत्री कहूँ इन्हें।
इसके साथ एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि वोट बटोरने के लिए, अब तो नारा बना दिया है… बीजेपी ने देश को राजनैतिक चारा बना दिया है।
देश के प्रधानमंत्री मोदी पर अक्सर उनके वादों और दावों को लेकर उंगलिया उठती रही है।  पीएम मोदी ने केंद्र में सत्ता में आने से पहले देश के मध्यम वर्ग के लोगों और गरीब लोगों से कई सारे वादे किये थे। जिनके आजतक पूरे होने की कोई संभावना नजर नहीं आ रही।
जिग्नेश के इस ट्वीट से अंदाजा लगाया जा सकता है कि राज्य के दलित समुदाय में बीजेपी और प्रधानमंत्री मोदी के लिए कितनी नाराजगी है। ये विरोध गुजरात के ऊना में हुए दलित पिटाई कांड के बाद ज्यादा बढ़ा है। जिग्नेश दलित समुदाय के अधिकारों के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। जिग्नेश ने इसके चलते अभी तक कांग्रेस के साथ भी हाथ नहीं मिलाया है। गौरतलब है कि गुजरात विधानसभा सभा चुनाव में अब कम ही वक़्त बाकी रह गया है। गुजरात में 9 से 14 दिसंबर के बीच दो चरणों में चुनाव होने वाले हैं।
कल बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दावा किया है कि गुजरात में इस बार भी बीजेपी ही अपना सिक्का जमायेगी और राज्य की जनता उन्हें बहुमत से जितवायेगी।  इस वक़्त देश की नजर गुजरात विधानसभा चुनावों पर टिकी हुई है। क्यूंकि राज्य में 22 साल से राज कर रही बीजेपी के लिए इस बार उनकी साख का सवाल है। क्यूंकि इस बार राज्य में कांग्रेस बीजेपी पर काफी हावी हो रही है।
इसके अलावा पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने भी आज प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिये कांग्रेस को समर्थन देने का एलान कर दिया है। वहीँ ओबीसी समुदाय से जुड़े नेता अल्पेश ठाकोर ने पहले ही कांग्रेस का हाथ थाम लिया है। कांग्रेस का पलड़ा बीजेपी से तो भारी चुका है। गुजरात चुनाव के अहम भूमिका में माने जा रहे तीनों युवा नेता बीजेपी के खिलाफ हैं और ये तीनों गुजरात के सियासी समीकरणों को बदलने की क्षमता रखते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *