“जिन लोगों ने मेरी दादी को गोली मारी, मैं उन लोगों के साथ बैडमिंटन खेलता था”

नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने आज यूनिवर्सिटी ऑफ़ कैलिफ़ोर्निया, बर्कले में ‘इंडिया ऐट 70: रिफलेक्शन ऑन द पाथ फॉरवर्ड’ प्रोग्राम में बात करते हुए कहा कि अगर उन्हें प्रधानमंत्री का पद दिया जाता है तो वो उसे स्वीकार करेंगे.

उन्होंने कहा कि जब इंदिरा गाँधी से पूछा गया था कि भारत “लेफ्ट” होगा या “राईट” और उन्होंने कहा कि इंडिया “स्ट्रैट एंड टाल” रहेगा.

राहुल ने कहा कि दुनिया में भारत के इलावा कोई भी दूसरा ऐसा देश नहीं है जिसने इतनी बड़ी संख्या में लोगों को ग़रीबी से बाहर किया है.

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि अहिंसा का विचार आज ख़तरे में है लेकिन यही एक विचार है जो मानवता को आगे बढ़ा सकता है.

राहुल ने अपनी दादी (इंदिरा गाँधी) और अपने पिता (राजीव गांधी) के त्याग को याद करते हुए कहा कि हिंसा में मैंने अपनी दादी और पिता को खोया. मुझसे बेहतर हिंसा को कौन समझेगा.उन्होंने आगे कहा, “जिन लोगों ने मेरी दादी को गोली मारी, मैं उन लोगों के साथ बैडमिंटन खेलता था. मुझे पता है कि हिंसा से क्या नुकसान हो सकता है. जब आप अपने लोगों को खोते हैं, तो आपको गहरी चोट लगती है.”

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि बिना चीफ़ इकनोमिक एडवाइजर और संसद को पूछे ही नोटबंदी जैसा फ़ैसला लागू कर दिया गया. उन्होंने नोटबंदी के फैसले की आलोचना की.

अमेठी से सांसद राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी अपनी योजना और दृष्टि बातचीत के बाद तय करती है.

उन्होंने माना कि 2012 के बाद कांग्रेस पार्टी के नेताओं में घमंड आ गया था और लोगों से बातचीत बंद कर दी थी. परिवारवाद के सवाल पर राहुल ने कहा कि देश का बड़ा हिस्सा इसी तरह से चलता है, अखिलेश यादव जी dynast हैं, स्टॅलिन जी dynast, धूमल जी का बेटा dynast है,मिस्टर अभिषेक बच्चन एक dyanist है, मिस्टर अम्बानी भी.. इसी तरह देश चलता है.

राहुल ने कहा कि भाजपा वालों की एक मशीन है, 1000 लोगों को बैठा दिया कंप्यूटर पर मेरे बारे में आप लोगों को बताने के लिए. उन्होंने कहा कि ये एक ऐसी मशीन है जिसका काम पूरे दिन मुझे गाली देना है और इसका ऑपरेशन वो कर रहा है जो देश को चला रहा है.

राहुल ने कहा कि 2013 में हमने आतंकवाद की कमर तोड़ दी थी, मैंने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को गले लगाया और कहा कि ये सबसे बड़ी उपलब्धियों में से एक है. जम्मू-कश्मीर की सत्ताधारी पार्टी के बारे में उन्होंने कहा कि पीडीपी नौजवानों को राजनीति में लाने वाली पार्टी रही थी लेकिन भाजपा ने पीडीपी के साथ गठबंधन करके इसको तोड़ दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.