जॉर्डन में महिला अधिकारों की बड़ी जीत, पार्लियामेंट ने लिया एहम फ़ैसला

अम्मान: जॉर्डन के एक ऐसे क़ानून जिसके प्रति सामाजिक न्याय और महिला संघठनों की नाराज़गी थी को ख़त्म करने का फ़ैसला देश की सरकार ने कर लिया है. असल में जॉर्डन में बलात्कार के दोषी को तब सज़ा माफ़ हो जाती थी अगर बलात्कारी पुरुष उस महिला से शादी करने को तैयार हो जाए जिसके साथ उसने ये घिनौना काम किया.

इस क़ानून से महिला आधिकारों की लड़ाई लड़ने वाले लोग काफ़ी नाराज़ थे लेकिन जॉर्डन के कुछ इलाक़े क्यूंकि अभी भी सामाजिक तौर पर रूढ़िवादी हैं इसलिए इसको हटाना मुश्किल हो रहा था.

‘बलात्कारी से शादी’ इस क्लॉज़ को ख़त्म करने के लिए पार्लियामेंट में सहमती हो गई जबकि अभी ये सीनेट में पास होना है जिसके बाद उसे रॉयल सरकार पास करेगी.

पार्लियामेंट में लिए गए इस निर्णय की देश-विदेश हर जगह सराहना हो रही है. इस तरह का क़ानून पहले तुनिशिया, और मिस्र जैसे देशों में भी था लेकिन अब वहाँ इसे हटा लिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.