जस्टिस फॉर विक्टिम: चंडीगढ़ हिट एंड रन मामले में इंसाफ के लिए लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन

January 12, 2018 by No Comments

चंडीगढ़: आज चंडीगढ़ में विभिन्न संगठनों सहित सुबोध कुमार गुप्ता के परिवार ने जस्टिस फॉर विक्टिम के नाम तले विरोध मार्च निकला जिसमे 6 महीने पहले हुए हिट एंड रन में सुबोध कुमार गुप्ता की मृत्यु हो गई थी। उस समय एक तेज रफ़्तार कार ने उनको टक्कर मार दी और कार चालक हरजसनीत मौके से फरार हो गया उसके वीआईपी कनेक्शन होने के वजह से वो आज तक पुलिस की गिरफ्त में आया है या ये कहा जा सकता है की पुलिस राजनितिक दवाब और वीआईपी रसूख के चलते उसे गिरफ्तार नहीं कर रही।

आज चंडीगढ़ के सेक्टर 10 से विरोध प्रदर्शन शुरू किया गया जिसमे शव श्री सुबोध कुमार गुप्ता के परिवार के सदस्य भी हाजिर रहे जिसमे उनकी पत्नी , बेटी मुख्या रूप से प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे थे । आइसा के नेता रजत कुमार ने कहा की चंडीगढ़ पुलिस we care for you का लोगो लगा के घूमती रहती है और चंडीगढ़ में लगातार रेप,मर्डर,छीनझपट सहित सड़क दुर्घनाये आये दिन घट रही हैं । और चंडीगढ़ पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है।

चंडीगढ़ को स्मार्ट सिटी का दर्ज दिलवाने में ही MP किरण खेर जी ने अपना सारा जोर लगा दिया पर शहर की हालात से वो अंजान हैं या उसे उसे अनदेखा कर रही है उनको ये बात समझ लेनी चाहिए वो भाजपा की नहीं जनता की MP हैं और चंडीगढ़ की जनता ने उन्हें चुना है। मार्च सेक्टर 10 से होते जुए SSP ऑफिस सेक्टर 9 पुहंच जिसके बाद एक प्रतिनिधि मंडल ने SSP को मेमोरंडम दिया और आरोपी के खिलाफ सख्त करवाई की मांग की।

आइसा के विजय ने कहा की सभी संगठन गुप्ता परिवार के साथ हैं जबतक उनको न्याय नहीं मिल जाता हमारा आंदोलन करते रहेंगे। इसी के साथ उन्होंने कहा की न्याय व्यवस्था को राजनीति से मुक्त होना चाहिए।  उन्होंने जस्टिस लोया की हत्या के केस के संधर्व में आज सुप्रीम कोर्ट के 4 जज्जों द्वारा की गई प्रेस वार्ता की और इशारा करते हुए कहा की आज न्यायधीशों को भी न्याय के लिए सड़कों पर उतारना पड़ रहा है।

ये हमारे देश में राजनितिक आपातकाल चल रहा है जिसमे कानून की तराजू का एक पलड़ा भ्रष्ट और हत्यारी सत्ता के बोझ तले दब गया है। इसे निकालना बहुत जरूरी है नहीं तो न्याय सिर्फ किताबों में ही बंद होकर रह जाएगा और मुजरिम खुद को खुद ही माफ़ करते रहेंगे।

[get_Network_Id]

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *