पहले चुनाव जीत जाएँ फिर CM पद आपस में तय कर लेंगे: ज्योतिरादित्य सिंधिया

भोपाल: मध्य प्रदेश में इस बार चुनाव काँटे के लग रहे हैं. कांग्रेस और भाजपा दोनों ही अपने जीत के दावे कर रही हैं. कांग्रेस इस कोशिश में है कि 15 साल से सत्ता का वनवास दूर हो जबकि भाजपा कोशिश में है कि एक बार फिर सरकार बनाए. इस बीच कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक न्यूज़ चैनल से बात करते हुए कहा कि मेरा मोह किसी पद के साथ नहीं है. पहले हम राज्य में जीत दर्ज कर लेंगे, तब फिर राहुल गांधी तय करेंगे कि राज्य में कांग्रेस का सीएम कौन होगा.

उन्होंने दावा किया कई प्रदेश में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं में ज़मीनी एकता है. उन्होंने साथ ही कहा कि वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के साथ किसी तरह का कोई मनमुटाव नहीं है और ये महज़ अफ़वाह है जो भाजपा फैला रही है. उन्होंने कहा कि भाजपा चाहती है कि इस तरह की अफवाहों में वोटर उलझ जाए. वहीं वो ये भी कहते हैं कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ख़ुद में सक्षम हैं और जानते हैं कि क्या फ़ैसला लेना है. उन्हें मेरी सलाह की ज़रूरत नहीं है. उन्होंने कहा कि मैं दिल्ली या मध्य प्रदेश कहीं भी ज़िम्मेदारी निभाने को तैयार हूँ.

सिंधिया ने उन ख़बरों को भी दरकिनार किया जिसमें दावा किया गया है कि कांग्रेस में टिकट बँटवारे को लेकर मतभेद हैं. सिंधिया ने कहा कि इस बार टिकट बँटवारा सटीक ढंग से हुआ है. ग़ौरतलब है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस के दो बड़े नेता मुख्यमंत्री पद के दावेदार माने जा रहे हैं, एक तो ख़ुद ज्योतिरादित्य सिंधिया है तो दूसरे कमलनाथ. भाजपा इसको लेकर भी कांग्रेस पर निशाना साध रही है कि कांग्रेस का मुख्यमंत्री उम्मीदवार decide नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.