कासगंज हिंसा: पत्रकार को धमकियां दे रहे दंगाई, बेटी किडनैप कर तुम्हे जान से मार देंगे..

January 29, 2018 by No Comments

उत्तर प्रदेश के कासगंज में हुई हिंसा चाहे अब शांत हो रही है। इस मामले में 112 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। लेकिन अभी भी माहौल में तनाव बना हुआ है। खबर के मुताबिक, इस हिंसा की रिपोर्टिंग कर रहे कुछ पत्रकारों को डराया-धमकाया जा रहा है। न्यूज चैनल एबीपी न्यूज से जुड़े पत्रकार पंकज झा ने कासगंज हिंसा की कवरेज कर रहे हैं। पंकज ने सोशल मीडिया साइट ट्विटर पर बताया है कि लोग उन्हें फोन पर गालियां दे रहे हैं, उन्हें मारने की धमकी दे रहे हैं और उनकी बेटी को किडनैप करने की धमकी दी जा रही है।

उन्होंने कहा है कि वह काफी लम्बे समय से पत्रकारिता में हैं लेकिन अब उन्हें ये दिन देखना पड़ा रहा है। पंकज झा ने ट्वीट कर लिखा है कि सवेरे से कुछ ख़ास तरह के लोग हमें फ़ोन कर गालियॉं दे रहे हैं,जान से मारने की धमकी दे रहे हैं,बेटी का अपहरण करने की चुनौती दे रहे हैं। ये पूछ रहे हैं कि क्या देश में तिरंगा यात्रा निकालने के लिए भी परमिशन की ज़रूरत पड़ेगी?लेकिन ऐसा तो कासगंज के डीएम ने कहा था, तो सवाल उनसे बनता है।

इस ट्वीट में उन्होंने उस फोन कॉल की डिटेल्स को शेयर किया है। जो उन्हें धमकियां दे रहे हैं। पंकज झा ने उन नंबरों की जानकारी उत्तर प्रदेश पुलिस को दे दी है। एक अन्य ट्वीट में पंकज झा ने ट्वीट कर कहा है कि सालों के पत्रकारिता करते हुए आज ये दिन भी देखना पड़ा है। इन नंबरों को उठाना मैंने बंद कर दिया है। आप पूछेंगे क्यों ? उधर से आती हैं गालियॉं और गोली मारने की धमकियॉं।

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के कासगंज में 26 जनवरी के दिन हिन्दू समुदाय के द्वारा तिरंगा यात्रा निकालने को लेकर हिंसा हुई थी। इस घटना में अभी तक एक शख्स अभिषेक उर्फ चन्दन गुप्ता ( 20 वर्ष) की मृत्यु हुई है। जबकि नौशाद नाम के घायल शख्स को जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु जनपद कासगंज शहर में धारा 144 सीआरपीसी लागू है। कानून व्यवस्था की स्थिति अब कंट्रोल में है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *