जानिये क्यूँ होने जा रहा है इज़राइल के प्रधानमंत्री का भारत में विरोध

January 8, 2018 by No Comments

इज़राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू इस महीने की 15 तारीख़ को भारत आ रहे हैं. वो यहाँ तीन दिवसीय दौरे पर रहेंगे लेकिन उनके दौरे का विरोध अभी से शुरू हो गया है. इस बारे में ऐसी ख़बरें मिल रही हैं कि उनके दौरे के ख़िलाफ़ कई शहरों में सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किये जा सकते हैं. दिल्ली और लखनऊ जैसे शहरों में इसको लेकर कई सामाजिक कार्यकर्ता एकजुट हो रहे हैं.

सामाजिक कार्यकर्ता शाह मुहम्मद अफ़ज़ल कहते हैं कि इस्राइली प्रधानमंत्री जल्लाद नेतन्याहू दिल्ली आ रहे है, मुझे बेहद अफ़्सोस है कि जिसने हमेशा सिर्फ़ इंसान को इंसान का ख़ून बहाने पे मजबूर किया, नफ़रत की आग भड़कायी और जिसके हाथ ख़ून से सने है,..जिसके दामन में मासूम बच्चों के ख़ून की छीटें महलो में औरतों की चीख़ती आवाज़ें जो सड़को पे बहता हुआ मज़लूमो के ख़ून का ज़िम्मेदार हो और वो हिन्दोस्तान जैसी पाक सरज़मींन पे अपना क़दम रक्खें ये मुझे बर्दाश्त में इसकी दिल की गहराइयों से मुख़ालिफत करता हूँ निन्दा करता हूँ और प्रधानमंत्री जी को इसपे जल्द कार्यवाई कर के अपने मुल्क की अवाम का साथ दें.

ज्योति राय कहते हैं कि भारत शुरू से फ़िलिस्तीन का समर्थक रहा है और कुछ इसी तरह का फ़ैसला सरकार ने हाल में संयुक्त राष्ट्र में लिया जब भारत ने अमरीका के जेरुसलम को राजधानी का दर्जा दिए जाने का विरोध किया. राय ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस दौरे पर इज़राइल के प्रधानमंत्री का विरोध जताना चाहिए. इज़राइल की सरकार पर लगातार ये आरोप लगते रहे हैं कि वो फ़िलिस्तीन के लोगों का दमन करती रही है और “टू-स्टेट सलूशन” को नहीं मानना चाहती.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *